English മലയാളം

Blog

उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले में शोहदों के दुस्साहस का एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। सासनी गेट के रहने वाले एक किसान ने जिन बदमाशों के खिलाफ घर में घुसकर बेटी के साथ छेड़छाड़ करने का मुकदमा दर्ज कराया था, उन्होंने सोमवार को अचानक ऐसी वारदात को अंजाम दे डाला जिससे आसपास के लोग और परिवारवाले सन्न रह गए। आरोपियों ने खेत में आलू खोदवा रहे किसान पिता पर मौका पाते ही ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दीं जिससे उसकी मौत हो गई। घटना के बाद से ही परिवार सदमे में है।

दरअसल मृतक पिता ने 16 जुलाई 2018 को मुख्य आरोपी गौरव के विरुद्ध घर में घुस कर छेड़खानी करने का आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इस मामले में गौरव 15 दिनों तक जेल में रहा था। इसका मुकदमा अभी चल रहा है। जेल से आने के बाद से ही गौरव मुकदमा वापस लेने के लिए युवक पर दबाव बना रहा था। उन्होंने ऐसा करने से मना कर दिया था। इससे गौरव उनसे रंजिश मानता था।

Also read:  राहुल गांधी के साथ 'पुलिसिया बदसलूकी' पर शिवसेना नेता संजय राउत का वार, बोले- लोकतंत्र का गैंगरेप

पुलिस का कहना है कि मुख्य आरोपी की पत्नी और चाची मंदिर गई हुई थीं। उसी समय मृतक की दोनों बेटियां भी उसी मंदिर में थीं। इसी दौरान दोनों पक्षों के बीच पुराने मुकदमे को लेकर विवाद हो गया। आरोपी और बेटियों के पिता बाद में वहां पहुंचे और उनके बीच भी बहस होने लगी। इसी बीच आरोपी ने युवक को गोलियों से भून डाला। आनन-फानन उसे अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। आरोपियों को पकड़ने के लिए टीमें गठित की गई हैं।

वहीं, परिवार का कहना है कि पिता अपने खेतों पर मजदूरों से आलू की खोदाई करा रहे थे। दोपहर में उनकी पत्नी अपनी पुत्री प्रियंका उर्फ पारुल के साथ उनको खाना देने के लिए खेत पर गईं थीं। इसी दौरान आरोपी गौरव अपने दो साथियों के साथ सफेद रंग की गाड़ी में आया और उन पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। गोलियों से घायल होकर वो वहीं गिर गए। इससे वहां अफरातफरी का माहौल पैदा हो गया।

Also read:  हाथरस गैंगरेप केस : SIT की टीम एक बार फिर पीड़िता के गांव पहुंची, कल देनी है जांच रिपोर्ट

चर्चा है कि फायरिंग के दौरान एक हमलावर को भी गोली लग गई थी जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। अन्य हमलावर उसे अपने साथ गाड़ी में डालकर फरार हो गए। देर शाम मृतक की पुत्री ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है। इसमें गौरव, रोहतास शर्मा, निखिल शर्मा, ललित शर्मा व दो अन्य पर हत्या का आरोप लगाया गया है। मृतक की पुत्री ने चार नामजद सहित छह लोगों के विरुद्ध थाने में तहरीर दी जिसके आधार पर मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। इनमें से दो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।