English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-03-16 103545

प्रचंड बहुमत के साथ फिर से भाजपा के सत्ता में लौटने से अपराधी-माफियाओं में दहशत व्याप्त हो गई। एक बार फिर से योगी आदित्यनाथ के शपथ लेने से पहले ही माफिया थाने पहुंचकर खुद को सरेंडर करते दिखाई देने लगे हैं।

 

यूपी के गोंडा में भी ऐसा ही एक बदमाश थाने पहुंचकर अपने आप को सरेंडर करने पहुंच गया। ‘मैं आत्मसमर्पण कर रहा हूं, मुझे गोली मत मारो….’ तख्ती पर लिखवाकर गल्ला व्यवसायी अपहरण कांड का आरोपी 25 हजार का इनामी मंगलवार को छपिया थाने में पहुंच तो देखते ही पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया। आरोपी की पहचान गौतम सिंह पुत्र राजेन्द्र सिंह निवासी तांबेपुर थाना छपिया के रूप में हुई है। एसपी ने बताया कि आरोपी ने अब कोई अपराध करने से भी तौबा किया है।

Also read:  जीतन राम मांझी के भगवान राम पर दिए विवादित बयान पर अनिल विज का पलटवार कहा-धरती पर बोझ है यह व्यक्ति...

छपिया थानाक्षेत्र के करनूपुर गांव से गल्ला व्यवसायी सील प्रसाद को छह मार्च को कार सवार चार बदमाश अगवा कर ले गए थे। शिवम गुप्ता की तहरीर पर मुकदमा भी लिखा गया था। सबसे पहले आरोपी रवि प्रकाश उर्फ रिंकू को आठ मार्च को ही गिरफ्तार कर लिया गया था। इसके बाद से पुलिस अन्य आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए जाल बिछा रही थी।

Also read:  MCD चुनाव पर केजरीवाल का पीएम मोदी पर लगाए आरोपों पर स्मृति ईरानी का पलटवार, केजरीवाल ने नगर निगमों के फंड को छीना

दो दिन पहले मुठभेड़ में दो आरोपी हुए थे गिरफ्तार

छपिया पुलिस व एसओजी पुलिस की संयुक्त मुठभेड़ में 13 मार्च को अपहरण मामले के आरोपी जुबेर व राजकुमार यादव गिरफ्तार हुए थे। मुठभेड़ के दौरान आरोपी राजकुमार यादव के पैर में गोली लगी थी। एसपी संतोष कुमार मिश्रा ने बताया कि मुठभेड़ की डर से आरोपी गौतम सिंह मंगलवार को मैं आत्म समर्पण कर रहा हूं की तख्ती लेकर थाने पहुंच गया। बाद में गिरफ्तारी की कार्रवाई की गई।