English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-08-02 084415

एयर इंडिया के पायलट फिलहाल 58 साल की उम्र में रिटायर होते हैं 200 से अधिक नए विमान शामिल करने की योजना बना रही एयर इंडिया एयर इंडिया ने कहा कि विस्तार योजनाओं को देखते हुए कार्यबल की आवश्यकता को पूरा करना जरूरी है

 

टाटा समूह की विमानन कंपनी एयर इंडिया ने अपने पायलटों को 65 वर्ष की आयु तक विमान उड़ाने की अनुमति देने का फैसला किया है। एयर इंडिया अपने चयनित पायलटों को सेवानिवृत्ति के बाद 5 साल की अवधि के लिए अनुबंध के आधार पर सेवा का विस्तार देगी। इस अनुबंध को 65 वर्ष की आयु तक बढ़ाया जा सकता है। समूह के आंतरिक दस्तावेजों से मिली जानकारी के अनुसार, कंपनी ने अपने बेड़े की विस्तार योजना को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय किया है।

Also read:  रक्षा मंत्री ने सैन्य कर्मियों से मुलाकात की

एयर इंडिया के पायलट फिलहाल 58 साल की उम्र में रिटायर होते हैं

एयर इंडिया की तरफ से 29 जुलाई को जारी दस्तावेजों में कहा गया है, ‘एयर इंडिया के पायलट फिलहाल 58 साल की उम्र में रिटायर होते हैं, कंपनी ने अपने बेड़े में विमानों की संख्या बढ़ने के बीच रिटायरमेंट के बाद भी पायलटों को सेवा देने की नीति बनाई है।’ बयान में आगे कहा गया है- ”नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने पायलटों को 65 वर्ष की आयु तक विमान उड़ाने की मंजूरी दे रखी है। एयर इंडिया में यह आयु सीमा 58 वर्ष है। पायलटों को 65 वर्ष की आयु तक उड़ान भरने की अनुमति देना उद्योग में ज्यादातर एयरलाइन कंपनियों द्वारा अपनाई जाने वाली व्यवस्था है।”

Also read:  भाकपा सांसद ने रेल मंत्री से की रेल टिकट पर सीनियर सिटीजन को छूट की मांग, केस मंत्री को लिखा पत्र

200 से अधिक नए विमान शामिल करने की योजना बना रही एयर इंडिया

विमानन कंपनी दरअसल अपने बेड़े में 200 से अधिक नए विमान शामिल करने की योजना बना रही है। इसमें 70 प्रतिशत विमान छोटे किस्म के होंगे। एयरलाइन के दस्तावेजों में कहा गया है कि अपने बेड़े के लिए भविष्य की विस्तार योजनाओं को देखते हुए कार्यबल की आवश्यकता को पूरा करना जरूरी है। एयर इंडिया ने कहा, ”इसलिए आवश्यकता को पूरा करने के लिए वर्तमान प्रशिक्षित पायलटों को सेवानिवृत्ति के बाद पांच साल के लिए यानी 65 साल की आयु तक अनुबंध के आधार पर रखने का प्रस्ताव है।”

Also read:  गुजरात में अगर अभी हो तो आप को नहीं मिलेगा बहुमत लेकिन मिलेगी इतनी सीटें

एयर इंडिया ने अगले दो वर्षों में सेवानिवृत्त होने वाले पायलटों की पात्रता की जांच करने के लिए मानव संसाधन, संचालन और उड़ान सुरक्षा के कार्यात्मक प्रतिनिधियों की एक समिति गठित करने का निर्णय लिया है।

कंपनी ने कहा, “समिति पायलटों के अनुशासन, उड़ान सुरक्षा और सतर्कता के संबंध में पिछले रिकॉर्ड की समीक्षा करने के लिए जिम्मेदार होगी। समीक्षा के बाद, समिति मुख्य मानव संसाधन अधिकारी को सेवानिवृत्ति के बाद अनुबंध जारी करने के लिए शॉर्टलिस्ट किए गए नामों की सिफारिश करेगी। पायलटों की सेवानिवृत्ति से एक साल पहले, उन्हें सेवानिवृत्ति के बाद इंगेजमेंट के लिए आशय पत्र जारी किया जाएगा।”