English മലയാളം

Blog

नई दिल्ली: 

भारत ने लद्दाख में सीमा पर पकड़े गये चीनी सैनिक को चीन को वापस कर दिया है. भारतीय सेना ने पकड़े गए चीन के सैनिक को चुशुल मोलडो बॉर्डर पॉइंट पर पीपुल्स लिबरेशन आर्मी को आज दस बजे सौंप दिया. 8 जनवरी की सुबह यह सैनिक पेंगोंग झील के दक्षिण में एलएसी को पार करके भारतीय सीमा में आ गया था. वहां पर तैनात भारतीय जवानों ने इस चीनी सैनिक को गिरफ्तार कर लिया. चीन के सैनिक के साथ निर्धारित प्रक्रिया के तहत कार्रवाई की गई. जिन हालात में चीनी सैनिक एलएसी पार करके भारतीय सीमा में दाखिल हुआ इसकी भी जांच की गई.

Also read:  भारत की उत्तरी सीमा पर चीन ने तैनात किए 60,000 सैनिक, अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने कहा

उधर, चीनी सैनिक के भारतीय सीमा में घुसने पर चीन ने कहा कि उसका जवान अंधेरे में भटक कर भारतीय इलाके में दाख़िल हो गया था. चीन ने भारत से अपने सैनिक को लौटाने का अनुरोध किया था. जिसके बाद आज भारत ने चीन के सैनिक को पीएलए से सुपुर्द कर दिया.

Also read:  कोरोनाः दिल्ली में सस्ती होगी आरटी-पीसीआर जांच, केजरीवाल ने दिए आदेश

एक साल के भीतर यह दूसरा मामला है जब चीनी सैनिक भटक कर भारतीय इलाके में घुस आए और बाद में भारतीय सैनिकों ने उसे चीनी सेना को वापस कर दिया. इससे पहले, भारतीय सेना ने पिछले साल अक्टूबर महीने में पूर्वी लद्दाख के चुमार-डेमचोक इलाके में पीएलए के एक सैनिक को पकड़ा था. चीनी सैनिक वांग या लोंग भटक कर वास्तविक नियंत्रण रेखा पार कर भारतीय सीमा में घुस आया था. बाद में उसे चीन को सौंप दिया गया था.

Also read:  PM नरेंद्र मोदी ने चीन को दे दी है हिन्दुस्तान की ज़मीन-भारत-चीन सीमा विवाद पर राहुल गांधी का बड़ा आरोप

आपको बता दें कि लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल पर पिछले मई के पहले हफ्ते से भारत और चीन के सैनिक आमने सामने हैं. सरहद पर हालात काफी तनावपूर्ण है. यही वजह है कड़ाके की ठंड में भी सीमा पर दोनों ओर से सैनिकों का जबरदस्त जमावड़ा है.