English മലയാളം

Blog

ओस्लो: 

नॉर्वे की नोबेल समिति ने 2020 के नोबेल शांति पुरस्कार (Nobel Peace Prize 2020) का ऐलान कर दिया है. ‘वर्ल्ड फूड प्रोग्राम’ (World Food Programme) को शांति पुरस्कार दिया गया है. ‘वर्ल्ड फूड प्रोग्राम’ को प्रभावित क्षेत्रों में भुखमरी से लड़ने व शांति कायम करने से जुड़े सराहनीय कार्यों के चलते शांति पुरस्कार दिया गया है. ओस्लो में यह घोषणा की गई. नोबेल समिति अपने पसंदीदा उम्मीदवार को लेकर पूरी गोपनीयता बरतती है. इसके बावजूद विजेता की घोषणा से पहले अटकलें लगती रहती हैं.

Also read:  सीएम योगी ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को सौंपा अपना इस्तीफा, विधानसभा गठन तक बने रहेंगे केयरटेकर सीएम

इस बार, अटकलें लगाई जा रही थीं कि इस साल का शांति पुरस्कार जलवायु कार्यकर्ता एवं स्वीडन की नागरिक ग्रेटा थनबर्ग, नर्व एजेंट हमले से उबर रहे रूस के नेता अलेक्सेई नवलनी और कोरोना वायरस संकट से निपटने में भूमिका के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन में से किसी को दिया जा सकता है. नवलनी ने अपने ऊपर हमले के लिए रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पर आरोप लगाया है.