English മലയാളം

Blog

नई दिल्ली: 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  (PM Modi) ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) पर निशाना साधते हुए कहा कि दिल्ली में कुछ लोग मुझे लोकतंत्र सीखाने की कोशिश कर रहे हैं. राहुल गांधी के “देश में लोकतंत्र नहीं होने” के बयान पर पीएम मोदी की यह प्रतिक्रिया आई है. जम्मू-कश्मीर के सभी लोगों के लिए आयुष्मान भारत योजना शुरू करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, “दिल्ली में कुछ लोग हैं, जो हमेशा मुझपर तंज कसते हैं और अपमान करते हैं.मैं उन्हें राज्य में हुए डीडीसी चुनाव को लोकतंत्र के उदाहरण के रूप में दिखाना चाहता हूं.”

Also read:  केरल के PFI एजेंट सिद्दीक ने पत्रकार बन हाथरस में डाला था डेरा, रच रहा था दंगों की साजिश

प्रधानमंत्री ने कहा, “कुछ राजनीतिक ताकतें मुझे लोकतंत्र पर लेक्चर दे रही हैं, लेकिन उनका दोहरा रवैया और खोखलापन देखिए. आप हैरान होंगे, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद, वहां जो सरकार है, स्थानीय निकाय चुनाव को लगातार टाल रही है.” पीएम मोदी ने कहा, “जम्मू-कश्मीर को केंद्र शासित प्रदेश घोषित करने के एक साल के भीतर ही पंचायत स्तर के चुनाव आयोजित हो गए.

उन्होंने कहा, “जम्मू-कश्मीर में इन चुनावों ने ये भी दिखाया कि हमारे देश में लोकतंत्र कितना मजबूत है, लेकिन एक पक्ष और भी है, जिसकी तरफ मैं देश का ध्यान आकर्षित कराना चाहता हूं. पुडुचेरी में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद पंचायत और म्यूनिसिपल इलेक्शन नहीं हो रहे:”

Also read:  DDC Election Result: गुपकार से आगे निकली भाजपा, जम्मू संभाग में बनाई भारी बढ़त

जम्मू-कश्मीर में ‘आयुष्मान भारत-सेहत योजना’ लॉन्च करते हुए प्रधानमंत्री ने हाल में सम्पन्न हुए स्थानीय चुनावों का जिक्र किया. प्रधानमंत्री ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के स्थानीय चुनावों ने लोकतंत्र की जड़ें मजबूत की हैं. उन्होंने कहा, “मैं जम्मू-कश्मीर के लोगों को लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए भी बधाई देता हूं. जिला विकास परिषद (DDC) के चुनाव ने एक नया अध्याय लिखा है. मैं चुनावों के हर चरण में देख रहा था कि कैसे इतनी सर्दी के बावजूद, कोरोना के बावजूद, नौजवान, बुजुर्ग, महिलाएं बूथ पर पहुंच रहे थे.”

Also read:  राहुल गांधी का तंज- 'नफरत भरे राष्ट्रवाद के 6 साल की उपलब्धि, भारत से आगे जाने को बांग्लादेश तैयार'

उन्होंने कहा, “आज जम्मू कश्मीर आयुष्मान भारत- सेहत स्कीम शुरु की गई है. इस स्कीम  5 लाख रुपए तक का मुफ्त इलाज मिलेगा. अभी आयुष्मान भारत योजना का लाभ राज्य के करीब 6 लाख परिवारों को मिल रहा था. सेहत योजना के बाद यही लाभ सभी 21 लाख परिवारों को मिलेगा.”