English മലയാളം

Blog

देश में भारत बायोटेक की कोवैक्सिन और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) की कोविशील्ड को आपात इस्तेमाल की मंजूरी मिल चुकी है। हालांकि मंजूरी के बाद दोनों कंपनियों के बीच तकरार देखने को मिली। अब इन दोनों ने अपने बीच जारी विवाद को दूर करते हुए मंगलवार को संयुक्त बयान जारी किया है। ये बयान एसआईआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अदार पूनावाला और भारत बायोटेक के अध्यक्ष डॉक्टर कृष्णा इल्ला ने जारी किया है।

संयुक्त बयान में दोनों कंपनियों ने कहा, ‘हम लोगों और देशों के लिए टीकों के महत्व के बारे में पूरी तरह से अवगत हैं। हम अपने कोविड-19 टीकों को वैश्विक पहुंच प्रदान करने की अपनी संयुक्त प्रतिज्ञा के बारे में बताते हैं।’ दोनों कंपनियों ने पूरे देश में सही तरीके से कोरोना वैक्सीन पहुंचाने के प्रयासों की भी बात कही है।

संयुक्त बयान में दोनों कंपनियों ने कहा, ‘अदार पूनावाला और डॉक्टर कृष्णा इल्ला ने देश में कोरोना वैक्सीन को बनाने, सप्लाई करने और दुनिया तक पहुंचाने को लेकर चर्चा की। दोनों ही संस्थानों का मानना है कि इस वक्त भारत और दुनिया के लोगों की जान बचाना बड़ा लक्ष्य है।’

Also read:  Covid-19 Vaccination: देश भर में आज से शुरू होगा टीकाकरण अभियान का पूर्वाभ्यास

बयान में आगे कहा गया है, ‘अब जब भारत में दो कोरोना वैक्सीन को आपात इस्तेमाल की मंजूरी मिल गई है, तो हमारा फोकस (केंद्र बिंदु) वैक्सीन बनाने, उसकी सप्लाई (वितरण) करने और बांटने पर है। हमारे संस्थान देशहित में इस काम को पहले की तरह ही करते रहेंगे और आगे बढ़ेंगे। दोनों कंपनियां देश और दुनिया को साथ में वैक्सीन पहुंचाने का प्रण लेती हैं।’

Also read:  हाथरस में धारा-144 लागू, सभी रास्तों पर की गई नाकेबंदी, राहुल-प्रियंका गांधी जाने वाले हैं पीड़ित परिवार से मिलने

बता दें कि हाल ही में अदार पूनावाला और कृष्णा इल्ला के बीच में बयानबाजी का एक दौर देखने को मिला था। इसके बाद इस विवाद में राजनेताओं की भी एंट्री हो गई थी। इसके बाद पूनावाला ने विवाद को सुलझाने की पहल करते हुए मंगलवार दोपहर को ट्वीट कर कहा था कि जल्द ही भारत बायोटेक के साथ जारी गलतफहमी को दूर करने के लिए संयुक्त बयान जारी किया जाएगा।