English മലയാളം

Blog

नई दिल्‍ली: 

Bihar Assembly Elections 2020: लोकतांत्रिक जनता दल के नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव (Sharad Yadav) की पुत्री सुभाषिनी यादव (Subhashini Yadav) बुधवार को कांग्रेस (Congress) में शामिल हो गईं.उनके साथ ही लोजपा के वरिष्ठ नेता काली पांडे भी कांग्रेस में शामिल हो गए. माना जा रहा है कि सुभाषिनी बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly polls) में कांग्रेस के टिकट पर चुनाव भी लड़ सकती हैं.

Also read:  ड्रग्स केस: एनसीबी की बड़ी कार्रवाई, कई निर्देशकों और प्रोड्यूसरों के घर पर छापा, चार ड्रग पैडलर गिरफ्तार

सुभाषिनी और काली पांडे ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं पवन खेड़ा, देवेंद्र यादव और अजय कपूर की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ली.इस मौके पर कांग्रेस प्रवक्ता खेड़ा ने कहा, ‘‘हमें गर्व है कि सुभाषिनी यादव कांग्रेस में शामिल हुई हैं. उनके पिता का भारत के संसदीय लोकतंत्र में बहुत बड़ा योगदान है.”

Also read:  बिहार में चुनावी रैली में बोले PM नरेंद्र मोदी, अगर नीतीश सरकार ने त्वरित कार्रवाई नहीं की होती, तो COVID-19 ने कहीं ज़्यादा जानें ली होतीं

गौरतलब है कि शरद यादव अपनी पार्टी गठित करने से पहले जनता दल यूनाइटेड (JDU) में थे और उन्होंने पार्टी का अध्यक्ष रहने के साथ कई वर्षों तक NDA के संयोजक की भूमिका भी निभाई.वर्ष 2017 में पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के कारण शरद यादव को JDU से निकाल दिया गया था. इसके बाद उन्होंने लोकतांत्रिक जनता दल का गठन किया.साल 2019 के लोकसभा चुनाव में वह महागठबंधन का हिस्सा थे और इसी के बैनर तले मधेपुरा से चुनाव भी लड़ा था लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा.