English മലയാളം

Blog

download (6)

अमेरिका में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के मिलने से चिंता बढ़ गई है। इसे देखते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने लोगों को चेताया है। बाइडेन ने कहा कि वैक्सीन न लगवाने वाले लोगों को इस सर्दी में गंभीर बीमारी और मौत का सामना करना पड़ सकता है। कुछ दिन पहले ही बाइडेन ने कहा था कि अमेरिकियों को वायरस के नए स्ट्रेन से डरने की जरूरत नहीं है। हालांकि, अब उनकी राय बदल गई है।

Also read:  केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मणिपुर में कई बड़ी घोषणाएं की, मणिपुर को बंद और आतंकवाद से मुक्ति मिली

बूस्टर डोज लगवाने पर जोर दिया
बाइडेन ने कहा कि ओमिक्रॉन बहुत तेजी से अमेरिका में फैलेगा और वैक्सीन लगवाने से ही असल सुरक्षा होगी। उन्होंने वैक्सीनेटिड लोगों के बूस्टर डोज लगवाने पर भी जोर दिया। वहीं, महामारी को लेकर मेडिकल एक्सपर्ट्स के साथ हुई मीटिंग के बाद कहा कि देश ओमिक्रॉन से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है। देश में बूस्टर डोज दी जा रही है और ट्रैवल को लेकर नए नियम लागू किए गए हैं।

Also read:  कोरोना की रफ्तार बड़ी 1200 के करीब पहुंचा ओमिक्रॉन, मुंबई में बिगड़े हालात

अमेरिका में रोजाना 1 लाख से ज्यादा केस, 1 हजार से ज्यादा मौतें
1 दिसंबर को अमेरिका में रोजाना औसतन 86 हजार नए कोरोना केस दर्ज हो रहे थे, लेकिन 14 दिसंबर तक यह संख्या 35% बढ़कर 1.17 लाख हो गई। सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के मुताबिक, अमेरिका इस समय कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित देश है। यहां रोजाना औसतन 1,150 मौतें दर्ज हो रही हैं।

Also read:  अरविंद केजरीवाल पर स्मृति ईरानी ने निशाना साधा, कहा- केजरीवाल के नए निचले स्तर पर गिरना कोई आश्चर्य की बात नहीं

दुनिया के लिए खतरा है ओमिक्रॉन
G7 देशों के स्वास्थ्य मंत्री ओमिक्रॉन स्ट्रेन को लेकर चिंतित हैं। उन्होंने इस महामारी से लड़ने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर योगदान मांगा है। इस नए वैरिएंट को वैश्विक स्वास्थ्य के लिए सबसे बड़ा खतरा बताया है। दुनियाभर में ओमिक्रॉन के मामले बढ़ने के चलते ज्यादा से ज्यादा यूरोपीय देश यात्रा प्रतिबंध लागू कर रहे हैं।