English മലയാളം

Blog

नई दिल्ली: 

दिल्ली बॉर्डर पर डटे किसानों के आंदोलन (Farmers Protest) का आज (शुक्रवार) 16वां दिन है. किसान नए कृषि कानूनों (Farm Laws) को वापस लेने की मांग को लेकर अड़े हैं. पंजाब समेत कई राज्यों से आए हजारों की संख्या में किसान सिंघु, टिकरी, चिल्ला और गाजीपुर बॉर्डर पर जमा हैं और शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे हैं. किसान आंदोलन के मद्देनजर दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने काफी संख्या में फोर्स की तैनाती की हुई है. अब मिल रही जानकारी के अनुसार, सिंघु बॉर्डर पर तैनात दो IPS अफसर कोरोनावायरस (Coronavirus) से संक्रमित पाए गए हैं. दोनों पुलिस अधिकारियों का इलाज चल रहा है.

Also read:  Bihar Election 2020: गांवों में बरसे वोट, शहरी इलाकों में छाए रहे बादल

इससे पहले खबर मिली थी कि किसान आंदोलन में शामिल हुए कई किसानों को तेज बुखार था. जिसके बाद सोनीपत के डीएम श्याम लाल पूनिया ने किसानों का कोरोना टेस्ट कराने के आदेश दिए थे. उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए थे कि वे धरने पर बैठे ऐसे किसानों की लिस्ट तैयार करें, जिन्हें तेज बुखार है. ऐसे किसानों की मुफ्त में कोरोना जांच की जाएगी. अगर कोई किसान संक्रमित मिलता है तो उसे उच्च स्तर पर उपचार सुविधा दी जाएगी.

Also read:  किसान आंदोलन : ठंड के बीच प्रदर्शन में शामिल पंजाब के एक किसान की टिकरी बॉर्डर पर मौत

बताते चलें कि देश के 10 बड़े केंद्रीय मजदूर संगठनों ने 12 और 14 दिसंबर को किसान संगठनों के विरोध प्रदर्शन के ऐलान का समर्थन करने का फैसला किया है. सेंटर ऑफ इंडियन ट्रेड यूनियन्‍स (CITU) महासचिव तपन सेन (Tapan Sen) ने  कहा, देश के 10 बड़े केंद्रीय मजदूर संगठनों के नेता और कार्यकर्ता 12 दिसंबर और 14 दिसंबर को सभी किसान संगठनों के विरोध कार्यक्रम में भाग लेंगे और उनके समर्थन में देश के हर राज्य में सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन करेंगे.