English മലയാളം

Blog

Screenshot 2021-12-31 092544

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि नमाज को ताकत दिखाने का जरिया नहीं बनाया जाना चाहिए। उन्होंने पटौदी में क्रिसमस के जश्न में बाधा डालने की घटना को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया।

महिला प्रेस क्लब से बातचीत के दौरान गुरुग्राम में कुछ सार्वजनिक स्थानों पर मुस्लिमों के नमाज अदा करने और हिंदू समूहों के उन्हें रोकने के प्रयास के संबंध में खट्टर ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक स्थानों पर पूजा ठीक नहीं है।

Also read:  आरुषि निशंक ने सीएम धामी से की भेंट, कहा-बॉलीवुड को उत्तराखंड से जोड़ा जाएगा, फिल्म शूटिंग के लिए तलाशे जाएंगे नए अवसर,

नमाज को नमाज रहना चाहिए, न कि इसे ताकत दिखाने का जरिया बनाना चाहिए। सभी लोगों को अपने ढंग से पूजा की अनुमति है, लेकिन यह सही स्थानों पर ही होना चाहिए। इसे लेकर कुछ मतभेद हैं तो विभिन्न धर्मों के लोग स्थानीय अधिकारियों के पास जाकर इन्हें दूर कर सकते हैं।

Also read:  कोलकाता पुलिस की खुफिया टीम दिल्ली पुलिस के साथ मिलकर पूरे मामले की आगे की जांच में जुट गई

पटौदी में कुछ दक्षिणपंधी युवाओं के क्रिसमस के जश्न में बाधा डालने पर उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाओं का समर्थन करने का कोई कारण नहीं है। ऐसे किसी भी कार्यक्रम में बाधा डालना अनुचित है। किसानों के प्रदर्शन पर खट्टर ने कहा कि हमें उन लोगों को अलग-अलग देखने की जरूरत है, जिन्होंने इसे शुरू किया और जिन्होंने समर्थन किया।

Also read:  ममता बनर्जी को 1 और झटका, टिकट कटने से नाराज TMC विधायक देबाश्री रॉय ने दिया इस्तीफा

जिन्होंने इन्हें शुरू किया, वे खुद को किसान नेता कहते हैं जैसे गुरनाम सिंह चढू़नी, लेकिन उनकी राजनीतिक महत्वाकांक्षाएं हैं और वह चुनाव भी लड़ रहे हैं। अब उनका कहना है कि किसानों को चुनाव भी लड़ना चाहिए।