English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-01-10 110455

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि 10 जनवरी से देश में एक करोड़ स्वास्थ्यकर्मी, तीन करोड़ फ्रंटलाइन वर्कर और 2.75 करोड़ पहले से बीमार 60 वर्ष या उससे अधिक आयु के वरिष्ठ नागरिकों को कोरोना वैक्सीन की एहतियाती खुराक मिलना शुरू हो गई है। 

कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के बढ़ते खतरे और पांच राज्यों में चुनावों की घोषणा के बाद देश में आज से एहतियाती खुराक(Precautionary Dose) लगना शुरू हो  गई है। कोरोना वैक्सीन की यह तीसरी खुराक बूस्टर डोज के रूप में दी जा रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले महीने 25 दिसंबर को ही एहतियाती खुराक को लेकर एलान किया था। यह तीसरी खुराक फिलहाल हेल्थ वर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स के साथ गंभीर बीमारियों से ग्रसित वरिष्ठ नागरिकों को ही दी जाएगी। आइए, जानें इसके बारे में सबकुछ…
किसको लगेगी एहतियाती खुराक?
देश में फिलहाल हेल्थ वर्कर्स, फ्रंट लाइन वर्कर्स या फिर वरिष्ठ नागरिक जो गंभीर बीमारियों से ग्रसित हैं, उन्हें ही एहतियाती खुराक या बूस्टर डोज लगेगी। गंभीर बीमारियों से ग्रसित वरिष्ठ नागरिक अपने डॉक्टर की सलाह पर ही एहतियाती खुराक ले सकेंगे।
Also read:  Marburg virus: हम इसके बारे में क्या जानते हैं? हम अपनी रक्षा कैसे करें?
क्या इसके लिए पंजीकरण आवश्यक है? अगर हां, तो कैसे होगा?
स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से साफ किया गया है कि एहतियाती खुराक के लिए किसी भी प्रकार के पंजीकरण के आवश्यकता नहीं पड़ेगी। पुराने पंजीकरण के आधार पर ही उन्हें कोरोना वैक्सीन की तीसरी खुराक दी जाएगी।

अप्वाइंटमेंट भी जरूरी है क्या?

एहतियाती खुराक के लिए CoWin एप पर बदलाव किया गया है। एप पर तीसरे डोज को लेकर फीचर जोड़ दिया गया है। ऐसे में आप सीधे इस फीचर के जरिए अप्वाइंटमेंट ले सकते हैं। इसके अलावा सीधे वैक्सीनेशन सेंटर जाकर तीसरी खुराक लगवा सकते हैं। यहां भी आपको नया पंजीकरण करवाने की आवश्कता नहीं पड़ेगी।

दोनों खुराक और तीसरे डोज के बीच अंतर होना चाहिए क्या?

हां, अगर आपको कोरोना वैक्सीन की दोनों खुराक लग चुकी हैं और नौ महीने का समय बीत चुका है, तभी आप तीसरी खुराक के लिए पात्र होंगे।

एहतियाती खुराक को लेकर कोई मैसेज आएगा क्या?

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से उन लोगों को मैसेज भेजा जा रहा है, जो नौ महीने पहले वैक्सीन की दोनों डोज लगवा चुके हैं। इसके अलावा मंत्रालय की ओर से बताया गया है कि अगर किसी को मैसेज नहीं मिलता है तो वह खुद से अपनी दूसरी खुराक के बीच अंतर देख लें।

क्या एहतियाती खुराक में कोई भी वैक्सीन ले सकते हैं?

नहीं, स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसको लेकर भी साफ कहा है कि एहतियाती खुराक या तीसरी डोज उसी वैक्सीन की दी जाएगी, जो आपको पहले से लगी है। यानी अगर आपने कोरोना वैक्सीन कोवॉक्सिन को दोनों डोज लिए हैं तो तीसरा डोज भी इसी का लगेगा। इसी तरह कोविशील्ड लेने वाले लोगों को कोविशील्ड की ही एहतियाती खुराक दी जाएगी।

वैक्सीनेशन सेंटर पर किसी तरह के कागज ले जाने होंगे?

हां, एहतियाती खुराक लगवाने के लिए वोटर आईडी, आधार कार्ड, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस में से कोई एक पहचान पत्र लेकर जरूर जाएं।