English മലയാളം

Blog

मुंबई: 

उद्योगपति मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) के घर के बाहर विस्फोटर सामग्री से भरी SUV के मामले में सचिन वाजे (Sachin Vaze) की मुश्किलें दिन-ब-दिन बढ़ती दिखाई दे रही हैं. जांच के दौरान NIA के हाथ कई और सबूत आए हैं जोकि हैरान करने वाले हैं. जानकारी के मुताबिक CIU में रहते हुए सचिन वाजे जब संदिग्ध स्कोर्पियो और बम धमकी की जांच कर रहे थे तब ठाणे की अपनी ही सोसायटी के CCTV फुटेज DVR को जब्त कर लिया था. सोमवार को NIA की टीम जब सचिन वाजे के घर जांच के लिए गई तब ये खुलासा हुआ. हैरान करने वाली बात ये है कि उस DVR से फुटेज मिटा दी गई है.

ऐसे में सवाल उठता है कि कोई जांच अधिकारी अपनी ही बिल्डिंग के CCTV फुटेज क्यों जब्त करेगा? जांच एजेंसी NIA के अधिकारियों के जहन में सवाल उठ रहा है कि क्या सचिन वाजे ने विक्रोली से स्कोर्पियो कार लाकर अपने ही कंपाउंड में तो नही रखवाई थी ? संदेह है कि 25 फरवरी के बाद जब मनसुख से वाजे के सबंध उजागर हुए, क्या तब सबूत मिटाने के लिए तो ऐसा किया. फिलहाल जांच एजेंसी NIA इस संबंध में CIU के API रियाज़ काज़ी से भी पूछताछ कर रही है.
बता दें NIA ने 25 फरवरी को दक्षिण मुंबई में अंबानी के घर के निकट विस्फोटकों से भरी एक कार पाए जाने की जांच के सिलसिले में वाजे को शनिवार को गिरफ्तार किया था. कार में जिलेटिन की 20 छड़ें मिली थीं. कार के मालिक एवं ठाणे के रहने वाले कारोबारी मनसुख हिरेन की हत्या के मामले में भी वाजे की भूमिका सवालों के घेरे में है. हिरेन 5 मार्च को ठाणे जिले में मृत पाए गए थे. वाजे ने 63 कथित अपराधियों को मुठभेड़ में मारा है.
Also read:  'ऑपरेशन कोविड वैक्सीन' के लिए भारतीय एयरलाइंस व हवाई अड्डे कर रहे तैयारी, जल्द होगी उपलब्ध