English മലയാളം

Blog

दिल्ली विधानसभा में आज दिल्ली (Delhi Budget) का पहला ई बजट पेश किया. दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री और वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने टैब से बजट पढ़ा. बजट पेश करने से पहले वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने कश्मीरी गेट स्तिथ हनुमान मंदिर में जाकर आशीर्वाद लिया. मनीष सिसोदिया ने डेढ़ घंटे के बजट भाषण में शिक्षा, स्वास्थ्य, पर्यटन संबंधी कई अहम घोषणाओं का ऐलान किया. यह उनका सातवां बजट भाषण था.

बता दें कि वित्त वर्ष 2021-22 के लिए मनीष सिसोदिया ने 69 हज़ार करोड़ का बजट प्रस्तुत किया, जो कि पिछली बार से 4 हज़ार करोड़ ज़्यादा है. सिसोदिया ने कहा कि आजादी के 75 वर्ष पूरे होने के मौके पर दिल्ली में देशभक्ति पाठ्यक्रम की शुरुआत होगी ताकि हर बच्चा देशभक्त बने. हर पढ़ा-लिखा व्यक्ति महिलाओं के लिए सम्मान रखे, स्कूलों में देशभक्त व्यक्ति तैयार करेंगे.

शिक्षा को जनांदोलन बनाने की जरूरत है. पढ़े लिखे सफल युवाओं को उन छात्रों के लिए मदद करने कहेंगे, जो बच्चे संसाधन की कमी से जूझ रहे हैं. दिल्ली में नया सैनिक स्कूल खोलेंगे, दिल्ली में फिलहाल एक भी सैनिक स्कूल नहीं है. दिल्ली के बच्चों को NDA के लिए तैयार करेंगे. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अस्पतालों में मुफ्त कोविड  वैक्सीन लगती रहेगी. महिलाओं के लिए विशेष मोहल्ला क्लीनिक खोलने की बात भी उन्होंने कही है.

पर्यटक स्थलों पर महिलाओं की सुरक्षा के लिए सीसीटीवी लगाए जाएंगे और गार्डों की तैनाती की जाएगी, इसके लिए 5 करोड़ रुपये की राशि प्रस्तावित की गई है. इसके साथ ही  दिल्ली में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए दिल्ली हेरिटेज प्रमोशन और दिल्ली टूरिज्म सर्किट योजना लाने की तैयारी है. दिल्ली की दिवाली का आयोजन अगले वर्ष भी धूम धाम से किया जाएगा इसके लिए कुल बजट 521 करोड़ का प्रस्ताव.मनीष सिसोदिया ने ऊर्जा विभाग के लिए 3227 करोड़ का बजट दिया. बिजली सब्सिडी के लिए 3090 करोड़ का बजट दिया.
2047 तक दिल्ली प्रदूषण से 100% आज़ाद हो चुकी होगी. न्यूयॉर्क की बड़ी आबादी घोड़े का इस्तेमाल करती थी, रात को घोड़े की लीद हटाने में बड़ी मशक्कत करनी पड़ती थी. खूंटा नहीं खरीदेंगे तो घोड़ा भाग जाएगा. इसलिए हर तीन किमी पर एक चार्जिंग स्टेशन की व्यवस्था करेंगे. 1300 E बसों को सड़क पर लाने की तैयारी कर रहे हैं. दिल्ली में फ़िलहाल 6693 बसें हैं, जो अगले साल तक बढ़कर 7693 करने का लक्ष्य है. नई  EV पॉलिसी का असर दिखना शुरू हो गया है. इलेक्ट्रिक वाहनों का शेयर 0.2 से बढ़कर 2. 1 पहुंचा. 1300 नई ई बसें लाएगी सरकार .सरकार पब्लिक ट्रांसपोर्ट में 11000 बस फ्लीट का लक्ष्य लेकर चल रही है.दिल्ली की डीटीसी बसों में महिलाओं का मुफ़्त सफर इस साल भी जारी रहेगा. 200 करोड़ रुपए CCTV सुविधा को सशक्त करने के लिए प्रस्तावित.
दिल्ली में इलेक्ट्रिक वाहन पॉलिसी लागू की गई. दिल्ली में 0.2 लोग पॉलिसी से पहले इलेक्ट्रिक वाहन खरीदते थे, लेकिन पॉलिसी के बाद 2.2% लोग वाहन खरीद रहे हैं. टारगेट है कि 2024 तक 25% इलेक्ट्रिक वाहन हों. इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए 500 E चार्जिंग स्टेशन करने का टारगेट, लंदन की तर्ज पर चार्जिंग की व्यवस्था की तैयारी.

जहां झुग्गी वहीं मकान योजना पर 5328 करोड़ रुपये खर्च करेंगे

केजरीवाल सरकार जहां झुग्गी वहीं मकान योजना पर 5328 करोड़ रुपये खर्च करेगी. अनिधकृत कालोनियों के विकास के लिए 1550 करोड़ रुपए का प्रावधान.
दिल्ली में ओलंपिक खेलों का आयोजन होना चाहिए.2048 में जब ओलिंपिक हों तो दिल्ली पर भरोसा किया जाए. दिल्ली सरकार 39वें  ओलिंपिक खेलों का आयोजन करने के लिए आवेदन करेगी. केजरीवाल सरकार ने 2048 में 39वें ओलंपिक खेल की मेजबानी करने का लक्ष्य बनाया है. कम से कम 10 खेल क्षेत्रों में अंतरराष्ट्रीय मेडल विजेता तैयार करने का लक्ष्य  है. आज़ादी की 100वीं वर्षगांठ पर दिल्ली में ओलिंपिक खेलो का आयोजन करने का लक्ष्य है.  दिल्ली सरकार 39वें ओलम्पिक खेलों का आयोजन करने के लिए आवेदन करेगी.

2048 में ओलिंपिक खेलों की मेजबानी के लिए आवेदन करेगी दिल्ली सरकार

दिल्ली में ओलंपिक खेलों का आयोजन होना चाहिए.2048 में जब ओलिंपिक हों तो दिल्ली पर भरोसा किया जाए. दिल्ली सरकार 39वें  ओलिंपिक खेलों का आयोजन करने के लिए आवेदन करेगी. केजरीवाल सरकार ने 2048 में 39वें ओलंपिक खेल की मेजबानी करने का लक्ष्य बनाया है. कम से कम 10 खेल क्षेत्रों में अंतरराष्ट्रीय मेडल विजेता तैयार करने का लक्ष्य  है. आज़ादी की 100वीं वर्षगांठ पर दिल्ली में ओलिंपिक खेलो का आयोजन करने का लक्ष्य है.  दिल्ली सरकार 39वें ओलम्पिक खेलों का आयोजन करने के लिए आवेदन करेगी.
टीचर्स यूनिवर्सिटी और लॉ यूनिवर्सिटी की भी शुरुआत होगी

टीचर्स यूनिवर्सिटी की शुरुआत होगी ताकि देश और दुनिया के बेहतर टीचर्स तैयार हो सकें. दिल्ली लॉ यूनिवर्सिटी की शुरुआत भी होगी. शिक्षा के लिए 16,377 करोड़ का बजट.

टीचर्स यूनिवर्सिटी और लॉ यूनिवर्सिटी की भी शुरुआत होगी

टीचर्स यूनिवर्सिटी की शुरुआत होगी ताकि देश और दुनिया के बेहतर टीचर्स तैयार हो सकें. दिल्ली लॉ यूनिवर्सिटी की शुरुआत भी होगी. शिक्षा के लिए 16,377 करोड़ का बजट.
शहीदों के परिवार के लिए 26 करोड़ के बजट का प्रस्ताव. 75 वर्ष के अधिक उम्र के नागरिकों को सम्मानित करने के लिए दिल्ली भर में कार्यक्रम होंगे. इसके लिए अलग से 2 करोड़ प्रस्तावित.
योग की अहमियत बताते हुए मनीष सिसोदिया ने कहा कि भारत ने दुनियाभर के लोगों को तन मन से स्वस्थ रहने का विज्ञान दिया है. हमारे यहां एक दो दिन के कार्यक्रम तो होते हैं, लेकिन लोगों को इससे जोड़े रखने की व्यवस्था नहीं है. दिल्ली की अलग-अलग कॉलोनियों में सरकार की तरफ से ध्यान और योग के प्रशिक्षक उपलब्ध कराए जाएंगे. इसके लिए ₹25 करोड़ प्रस्तावित किए गए हैं.
दिल्ली में वर्चुअल मॉडल स्कूल की शुरुआत होगी. यह दुनिया में अपनी तरह का पहला स्कूल होगा, जहां कोई चार दीवारी नहीं होंगी और दुनिया के किसी भी कोने में बैठकर आप दिल्ली के शिक्षा मॉडल का लाभ उठा सकेंगे. ऐसे स्कूल की डिजाइन का काम शुरू हो गया है.
दिल्ली में 5651 स्कूल हैं. नीति आयोग ने माना कि दिल्ली के सरकारी स्कूल नम्बर 1 हैं. 16 लाख बच्चे हैप्पीनेस क्लास से अपनी क्लासेज की शुरुआत करते हैं. इंटरनेशनल सेल की स्थापना हम इसमें कर रहे हैं.
एंटरप्रेन्योरशिप करिकुलम के तहत 2 हज़ार रुपए प्रति बच्चे को दिए जाएंगे. शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए 3 चीज़े अहम हैं. नर्सरी से 8 वीं के लिए नया पाठ्यक्रम तैयार होगा. दिल्ली का अपना शिक्षा बोर्ड होगा. 100 स्कूल ऑफ एक्सीलेंस बनाए जाएंगे.
मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली के हर नागरिक को हेल्थ कार्ड दिया जाएगा और हर व्यक्ति का ऑनलाइन डेटा उपलब्ध होगा. अस्पताल में पुराने इलाज की हर जानकारी उपलब्ध होगी. स्वास्थ्य के लिए 9934 करोड़ का बजट प्रस्तावित किया.
मनीष सिसोदिया ने बजट पेश करते हुए कहा कि दिल्ली में हम सब स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के ऋणी है. आजादी के 75 वर्ष को ध्यान में रखते हुए 12 मार्च से 15 अगस्त 2022 तक देशभक्ति से जुड़े कई कार्यक्रम किए जाएंगे. 2047 में हम दिल्ली को कहां देखना चाहते हैं , इसकी आधारशिला में रखना चाहता हूं.
Also read:  Famers Protest: सीने में दर्द के बाद धरने पर बैठे बुजुर्ग किसान की मौत, दस पर पहुंचा आंकड़ा