English മലയാളം

Blog

नई दिल्ली: 

International Day of Older Persons 2020: हर साल 1 अक्टूबर को वृद्ध व्यक्तियों के लिए अंतर्राष्ट्रीय वृद्ध जन दिवस(International Day of Older Persons) के रूप में मनाया जाता है. बुजुर्गों की भलाई और जरूरतों के बारे में जागरूकता बढ़ाने और उनकी ओर लोगों का ध्यान केंद्रित करने के लिए संयुक्त राष्ट्र ने इस दिन की शुरुआत की थी. विशेषज्ञों ने बार-बार कहा है, कि कोविड 19(COVID-19) महामारी से विश्व स्तर पर वरिष्ठ नागरिक सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं, क्योंकि वे उम्र से संबंधित समस्याओं की वजह से सबसे कमजोर हैं. आजकल के समय में बुजुर्ग लोगों के अकेलेपन और मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है.

Also read:  Plants For Home & Office: ये पौधे बदल देंगे आपके घर और वर्क प्लेस का माहौल

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस(António Guterres) ने कहा, “कोविड 19(COVID-19) महामारी पूरे विश्व में वृद्ध लोगों के लिए भय और पीड़ा पैदा कर रही है. महामारी वृद्ध लोगों को इसके तत्काल स्वास्थ्य प्रभाव के अलावा, गरीबी, भेदभाव और अलगाव के खतरे में डाल रही है. विकासशील देशों में बुजुर्गों पर इसका विशेष रूप से विनाशकारी प्रभाव पड़ने की संभावना है.”

International Day of Older Persons 2020: आप भी जानिए ये 10 बातें

-2020 से 2030 ‘स्वस्थ युग का दशक’ है: यूएन

-वैश्विक रूप से  2019 में 65 या उससे अधिक आयु वर्ग के 703 मिलियन व्यक्ति थे: यूएन

Also read:  हिमाचल प्रदेश में 39% लोग मोटापे के शिकार, 11.5% लोग डायबिटीज़ से पीड़ित: स्टडी

-2050 तक  दुनिया भर में 6 लोगों में से एक 65 (16%) से अधिक होगा, 2019 में 11 में से एक (9%): यूएन

-अगले 30 वर्षों में दुनिया भर में वृद्ध व्यक्तियों की संख्या दोगुने से अधिक होने का अनुमान है, जो 1.5 बिलियन से अधिक व्यक्तियों तक पहुंच रहे हैं: यूएन

-उनमें से 80% निम्न और मध्यम आय वाले देशों में होंगे: यूएन

-अनुमान है कि भारत में 60 से ज्यादा उम्र के लोगों की संख्या 2021 में बढ़कर 14.3 करोड़ और 2026 में 17.3 करोड़ हो जाएगी: सरकार की रिपोर्ट

Also read:  Karwa Chauth 2020: रेड से हटकर इस बार इन कलर्स के साथ करें एक्सपेरिमेंट स्पेशल लुक के लिए

-भारत में वृद्ध व्यक्ति पर्याप्त सामाजिक सुरक्षा के अभाव में समस्याओं का सामना कर रहे हैं: सरकार की रिपोर्ट

-60 वर्ष से अधिक आयु के 6 लोगों में से एक ने पिछले साल दुर्व्यवहार का सामना किया: डब्ल्यूएचओ

अनुमान है कि भारत में 60 से ज्यादा उम्र के लोगों की संख्या 2021 में बढ़कर 14.3 करोड़ और 2026 में 17.3 करोड़ हो जाएगी: सरकार की रिपोर्ट

-भारत में वृद्ध व्यक्ति पर्याप्त सामाजिक सुरक्षा के अभाव में समस्याओं का सामना कर रहे हैं: सरकार की रिपोर्ट