English മലയാളം

Blog

भोपाल: 

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) की ओर से कैबिनेट मंत्री इमरती देवी (Imarti Devi) पर दिए गए अपमानजनक बयान को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने कांग्रेस पर हमला बोला है. सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को इस संबंध में पत्र लिखकर कमलनाथ के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है. शिवराज सिंह चौहान ने कमलनाथ की इस टिप्पणी के विरोध में दो घंटे का मौन व्रत भी रखा.

Also read:  वित्त मंत्री ने पेश किया आर्थिक सर्वेक्षण, अगले वित्त वर्ष में GDP में 11 फीसदी वृद्धि का अनुमान

सोनिया गांधी को लिखी चिट्ठी में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा, “विधानसभा उपचुनाव में प्रचार के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कैबिनेट मंत्री और अनुसुचित जाति की महिला नेत्री इमरती देवी पर अभद्र एवं अशोभनीय टिप्पणी की. यही नहीं, वह इस टिप्पणी को सही भी ठहरा रहे हैं. मुझे लगा था कि एक महिला होने के नाते आप इसका खुद संज्ञान लेंगी और उन पर कड़ी कार्रवाई करेंगी, लेकिन अब तक ऐसा नहीं हुआ.”

i0nss8u

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि आग्रह है कि कमलनाथ के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करते हुए उन्हें पार्टी के सभी पदों से हटाते हुए उनकी कड़ी निंदा करें ताकि महिलाओं का अपमान करने वाले आपकी पार्टी के नेताओं को सबक मिले. इस प्रकरण में यदि आपने मौन धारण किया तो यह मानने के लिए बाध्य होना पड़ेगा कि कमलनाथ द्वारा दलित मंत्री इमरती देवी के प्रति की गई टिप्पणी पर आपकी पूर्ण सहमति है.

Also read:  बिहार चुनाव : रैलियों में नेता नहीं मिल सकेंगे गले, सरकार ने गाइडलाइन जारी की

बता दें कि मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने डबरा की चुनावी जनसभा में इमरती देवी को आइटम कहा था. इमरती देवी उन विधायकों में शामिल हैं, जिन्होंने ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ मार्च में कांग्रेस छोड़ दी थी और भाजपा में शामिल हो गई थीं. इससे कमलनाथ सरकार गिर गई थी. इसके चलते मध्य प्रदेश में  उपचुनाव हो रहे हैं.