English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-02-21 094428

यूपी विधानसभा के लिए तीसरे चरण का मतदान रविवार को खत्म हुआ। तीसरे चरण में कुल 61% मतदान हुआ है. इससे पहले 2017 के चुनाव की बात करें तो इन 59 सीटों पर 62.21 पर्सेंट वोटिंग हुई थी।

 

यूपी विधानसभा के लिए तीसरे चरण का मतदान रविवार को खत्म हुआ। तीसरे चरण में कुल 61 प्रतिशत मतदान हुआ है। इससे पहले 2017 के चुनाव की बात करें तो इन 59 सीटों पर 62.21 पर्सेंट वोटिंग हुई थी। इस लिहाज से देखें तो इस बार वोटिंग में 1.21 प्रतिशत की गिरावट आई है। अब अगर एक और चुनाव पीछे जाएं तो 2012 में इन्हीं 59 सीटों पर 59.79 फीसदी मतदान हुआ था। यानी 2017 में वोटिंग में 2.42 पर्सेंट का इजाफा हुआ, जबकि इसके पांच साल बाद इस बार फिर गिरावट देखी गई।

Also read:  कृष्ण जन्मभूमि-शाही ईदगाह मामले की याचिका पर आज होगी सुनवाई, सिविल जज सीनियर डिवीजन की अदालत में याचिकाकर्ता अपनी दलील रखेंगे

वोटिंग बढ़ने पर विपक्षी दलों को फायदा

अब अगर आप इन 59 सीटों की समीक्षा पिछले तीन चुनावों के आधार पर करें तो पाएंगे कि जिस बार वोट प्रतिशत बढ़ा, उस बार विपक्षी दलों को लाभ हुआ। 2012 के विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी को इन 59 सीटों में से 37 सीटें मिली थीं, जबकि 2017 में बीजेपी को 59 में से 41 सीटें मिली थीं।

Also read:  बजट पेश होने से पहले संसद सत्र में बदलाव, छोटा हुआ सत्र

पहले फेज की स्थिति

यूपी में पहले फेज में वेस्टर्न यूपी की 58 सीटों पर मतदान हुआ था. इस दौरान 62.4 प्रतिशत वोटिंग हुई थी. 2017 से इसकी तुलना करें तो तब इन 58 सीटों पर करीब 63.75 फीसदी मतदान हुआ था. यानी इस बार 1.2% की गिरावट आई. 2012 में वेस्टर्न यूपी की 58 सीटों पर 61.03 फीसदी मतदान हुआ था। इसका मतलब कि 2017 में करीब 2% वोटिंग बढ़ी।

Also read:  बंगाल चुनाव 2021: राज्यसभा सांसद स्वपन दासगुप्ता का इस्तीफा,भाजपा से लड़ेंगे विधानसभा चुनाव

दूसरे चरण का हाल

यूपी विधानसभा चुनाव 2022 के दूसरे चरण की बात करें तो 55 सीटों पर 64.42 प्रतिशत मतदान हुआ। 2017 में इन 55 सीटों पर 65.53 प्रतिशत वोटिंग हुई थी। पिछले चुनाव की तुलना में यह करीब 1.1% कम है. 2012 में इन 55 सीटों पर 65.17% वोटिंग हुई थी। यानी 2017 में मतदान में करीब 0.36% की बढ़ोतरी हुई।