English മലയാളം

Blog

Screenshot 2023-05-02 113148

कर्नाटक चुनाव 2023 के लिए कांग्रेस पार्टी ने मंगलवार को घोषणा पत्र जारी कर दिया। इस मौके पर पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और विपक्ष के नेता सिद्धारमैया, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डीके शिवकुमार और अन्य नेता मौजूद रहे।

कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में वादा किया है कि पार्टी की सरकार आने के बाद 200 यूनिट मुफ्त बिजली दिया जाएगा।इसके अलावा परिवार की प्रत्येक महिला मुखिया को हर महीने 2,000 रुपये देने की बात कही गई है। घोषणापत्र में बेरोजगार स्नातकों का भी ख्याल रखा गया है। उन्हें दो साल के लिए 3,000 रुपये प्रति माह और बेरोजगार डिप्लोमा धारकों को 1,500 रुपये प्रति माह दिया जाएगा। केएसआरटीसी/बीएमटीसी बसों में सभी महिलाओं के लिए मुफ्त यात्रा की छूट दी जाएगी।

खाली पदों को एक साल में भरने का वादा

कांग्रेस ने अपने मेनिफेस्टो में उन पेंशनभोगी सरकारी कर्मचारियों के लिए ओपीएस के विस्तार पर विचार करने की बात कही है जो 2006 से सेवा में शामिल हुए हैं। घोषणापत्र में एक वर्ष के भीतर सभी सरकारी विभागों में अस्वीकृत रिक्तियों को भरने का भी वादा किया गया है।

पार्टी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी अनुसूचित जाति के लिए आरक्षण को 15% से बढ़ाकर 17%, अनुसूचित जनजाति के लिए 3% से 7%, और अल्पसंख्यक आरक्षण को 4% बहाल करने और लिंगायत, वोककालिगा और अन्य समुदायों के लिए आरक्षण बढ़ाने और नौवीं अनुसूची में शामिल करने के लिए प्रतिबद्ध है।

Also read:  बिहार में शराबबंदी कानून के तहत जुर्माना 50 हजार से घटाकर 2000 से 5000 तक किया गया

हर साल 500 लीटर टैक्स फ्री डीजल देने का वादा

कांग्रेस पार्टी ने अपने घोषणापत्र में गहरे समुद्र में मछली पकड़ने के लिए हर साल 500 लीटर टैक्स फ्री डीजल देने का वादा किया है। कांग्रेस पार्टी ने अपने घोषणापत्र में एससी/एसटी/ओबीसी/अल्पसंख्यक/लिंगायत और वोक्कलिगास और अन्य समुदायों की आशाओं और आकांक्षाओं को समायोजित करने के लिए सीलिंग और आरक्षण को 50% से बढ़ाकर 75% करने का वादा किया है।

कांग्रेस की ओर से घोषणापत्र जारी करने के दौरान कहा गया कि हम मानते हैं कि कानून और संविधान पवित्र है। बजरंग दल, पीएफआई जैसे व्यक्तियों या फिर संगठनों की ओर से किसी बहुसंख्यक या अल्पसंख्यक समुदायों के बीच शत्रुता या घृणा को बढ़ावा देने वाले अन्य लोगों को संविधान या फिर कानून का उल्लंघन करने नहीं दिया जाएगा। हम ऐसे किसी भी संगठन पर प्रतिबंध लगाने समेत कानून के अनुसार निर्णायक कार्रवाई करेंगे।

Also read:  जेद्दा में मौसम की चेतावनी जारी, उड़ानों में देरी

पार्टी की ओर से ये भी वादा किया गया है कि कांग्रेस सरकार राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी) की जगह एक अलग राज्य शिक्षा नीति बनाई जाएगी।बता दें कि सोमवार को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कर्नाटक चुनाव के लिए पार्टी का घोषणापत्र जारी किया था। घोषणापत्र जारी होने के बाद भाजपा नेताओं ने दावा किया था कि हम राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव में 130 से 140 सीटें जीतेंगे। राज्य में 224 विधानसभा सीटों पर एक चरण में 10 मई को वोटिंग होगी जबकि 13 मई को मतों की गिनती की जाएगी।