English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-02-17 110809

सांसद मनीष तिवारी कैप्टन अमरिंदर सिंह के पार्टी छोड़ने के बाद से विद्रोही तेवर अपनाए हुए हैं। वे पंजाब कांग्रेस प्रधान नवजोत सिद्धू की खुलकर मुखालफत करने के साथ ही कई बार आलाकमान पर भी निशाना साध चुके हैं। 

श्री आनंदपुर साहिब के सांसद और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनीष तिवारी ने कांग्रेस छोड़ने की अटकलों को खारिज किया है। तिवारी ने कहा कि मैंने कई बार ये बात पहले भी कही है कि हम कांग्रेस पार्टी में किराएदार नहीं हैं हम हिस्सेदार हैं। हां, कोई धक्का देकर निकालेगा तो दूसरी बात है। हमने अपनी जिंदगी के 40 साल पार्टी को दिए हैं, हमारे परिवार ने पार्टी के लिए खून बहाया है।

Also read:  Pfizer COVID-19 Vaccine: फाइजर (Pfizer) ने भारत में अपनी कोरोना वैक्सीन (COVID-19 vaccine) के आपातकाल इस्तेमाल की मंजूरी के लिए दिए आवेदन को वापस ले लिया

मनीष तिवारी ने पूर्व कानून मंत्री अश्विनी कुमार के पार्टी छोड़ने को दुर्भाग्यपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि जब भी कोई नेता कांग्रेस छोड़कर जाता है तो पार्टी का नुकसान होता है। आगे उन्होंने कहा कि राज्यसभा की एक सीट लोगों से बहुत कुछ करवाती है। मनीष तिवारी ने स्वीकार किया है कि यह गंभीर मुद्दा है। बातों ही बातों में उन्होंने कहा कि अगर सेखड़ी कांग्रेस छोड़ गए हैं, तो शायद इसके पीछे वे कोई सियासी लाभ ढूंढ रहे होंगे। उन्होंने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह से उनके निजी रिश्ते हैं। वह पहले भी उनके साथ मुलाकात करते थे और उनके कांग्रेस छोड़ने के बाद भी बात होती है।

Also read:  शेयर बाजार में आई तेजी, सेंसेक्स 526 और निफ्टी में 161 अंकों की बढ़त के साथ खुला

स्टार प्रचारकों की सूची में नहीं मिली तिवारी को जगह

कांग्रेस ने इस बार पंजाब विधानसभा चुनाव में मनीष तिवारी को स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल नहीं किया है। मनीष तिवारी पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के करीबी हैं। वह खुलकर इस बात को स्वीकार करते हैं। एक न्यूज चैनल से बात करते वक्त मनीष तिवारी ने कहा कि कांग्रेस के स्टार प्रचारकों में ऐसे नाम भी शामिल हैं, जिनके कहने पर उनकी पत्नी तक वोट नहीं देंगी।