English മലയാളം

Blog

नई दिल्ली: 

Covid-19 Pandemic: देश में कोरोना की रफ्तार पर काफी हद तक ब्रेक लगा है. केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय (Health Ministry) के अनुसार, पिछले 24 घंटों में 15 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में कोविड-19 से किसी के मरने की सूचना नहीं है, वहीं सात राज्यों-केन्द्र शासित प्रदेशों में पिछले तीन सप्ताह में महामारी से कोई मौत नहीं हुई है. पिछले पांच सप्‍ताह में देखें तो कोविड-19 से होने वाली मौतों में औसतन 55 प्रतिशत की कमी आई है.स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अनुसार, 9 फरवरी सुबह आठ बजे तक 62.6 लाख लोगों को कोविड-19 का टीका दिया जा चुका है, इनमें से 5,482,102 स्वास्थ्य कर्मी हैं और 7,76,906 अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मी हैं. नीति आयोग के सदस्‍य डॉ. वीके पॉल ने कहा कि पिछले 24 घंटों में दिल्‍ली में कोरोना संक्रमण के कारण कोई मौत नहीं हुई है. यह एक अच्‍छी खबर है लेकिन ऐहतियात जारी रहनी चाहिए. सीरो सर्वे ने बताया है कि हमारी 70 फीसदी से अधिक आबादी अभी भी अति संवेदनशील (vunerable) है.

Also read:  भारत में COVID-19 से मरने वालों की संख्या हुई एक लाख से अधिक

क्‍या कोरोना वैक्‍सीन लोगों के लिए व्‍यावसायिक स्‍तर पर उपलब्‍ध होगी, इस सवाल पर डॉ. पॉल ने कहा कि हमारा लक्ष्‍य, सबसे पहले 30 करोड़ लोगों का टीकाकरण करना है. इसके बाद की स्थिति में दूसरे विकल्‍प खुले हुए हैं. दक्षिण अफ्रीका के वेरिएंट पर वैक्‍सीन के कम प्रभावी होने की खबरों पर कमेंट करते हुए उन्‍होंने कहा कि हम इस पर नजर जमाए हैं. यह अधिक संक्रामक है. एक स्‍टडी में इस बात के संकेत है कि कोविशील्‍ड, कोरोना संक्रमण के हल्‍के रूपों (mild forms) पर प्रभावी नहीं है, हालांकि यह संक्रमण के गंभीर रूप (severe form) पर काम करता है. वैसे भी दक्षिण अफ्रीका के स्‍ट्रेन के देश में अब तक कोई मामला नहीं है.

Also read:  कोरोना वाइरस: पिछले 24 घंटे में आए 15,510 नए केस, 106 ने गंवाई जान

मंत्रालय के अनुसार, देश के पांच राज्यों में कोविड-19 से संक्रमित लोगों की कुल संख्या का 81 फीसदी है. केरल और महाराष्ट्र में ही पूरे देश में संक्रमण का इलाज करा रहे लोगों के 70 फीसदी मामले हैं. मंत्रालय ने बताया कि 33 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में इलाज करा रहे रोगियों की संख्या पांच हजार से कम है.देश में कोविड-19 से होने वाली मौत की संख्या भी घट रही है. स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अनुसार, जनवरी के दूसरे सप्ताह में रोजाना मौतों का औसत 211 था और फरवरी के दूसरे सप्ताह में इसमें 55 प्रतिशत की कमी आई और यह 96 रह गई है. भारत में उपचाराधीन मरीजों की संख्या भी घटकर 1.43 लाख रह गई है जो संक्रमण के कुल मामलों का महज 1.32 प्रतिशत है. पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 14,016 मरीज ठीक हुए, अब तक कोविड-19 के कुल 1,05,48,521 मरीज ठीक हो चुकेहैं. मंत्रालय के अनुसार, “ठीक होने वाले और उपचाराधीन मरीजों के बीच का अंतर बढ़ता जा रहा है. यह आज 1,04,04,896 हो गया.”भारत में ठीक होने वाले मरीजों की दर 97.25 प्रतिशत हो गई है, जिस विश्व में स्वस्थ होने वाली सर्वाधिक दर में से एक है.मंत्रालय ने कहा कि अमेरिका, ब्रिटेन, इटली, रूस, ब्राजील और जर्मनी में ठीक होने की दर भारत से कम है.