English മലയാളം

Blog

नई दिल्ली: 

Farmers Protest: पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन की दिशा में काम करने वाली ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) खिलाफ दिल्ली पुलिस ने FIR दर्ज की. कृषि कानूनों (Farm laws) को लेकर स्‍वीडिश मूल की ग्रेटा की ओर से किए गए ट्वीट को लेकर यह एफआईआर दर्ज की गई है.दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने सेक्शन 153A और 120B के तहत यह केस दर्ज किया है.गौरतलब है कि ग्रेटा ने केन्द्र के नए कृषि कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ किसानों के प्रदर्शनों के प्रति समर्थन व्यक्त किया था. उन्‍होंने ट्वीट किया था, ‘हम भारत में किसानों के आंदोलन के प्रति एकजुट हैं.’ इस पर भारत सरकार की ओर से कड़ी प्रतिक्रिया दी गई थी.

Also read:  Covid-19 Vaccine : वैक्सीनेशन प्रोग्राम को लेकर मुख्यमंत्रियों के साथ आज बैठक करेंगे PM मोदी

दिल्‍ली से बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी (Meenakshi Lekhi) ने देश के आंतरिक मामलों में दखल के लिए ग्रेटा को आड़े हाथ लिया है. मीनाक्षी लेखी ने कहा कि ग्रेटा के ट्वीट से जिस साजिश का हमें हमेशा अंदेशा था, उसका सबूत अब सामने आ गया है कि किस तरह से साजिश चल रही है. उन्होंने कहा, ‘ग्रेटा थनबर्ग एक बच्ची है अगर मेरे हाथ में होता तो मैं उसे बाल पुरस्कार देती. उसका नाम नोबेल प्राइज से हटा देती.’

Also read:  राजस्थान में बढ़ी सियासी हलचल: गहलोत सरकार से बीटीपी के 2 विधायकों ने वापस लिया समर्थन

उन्होंने कहा, ‘नोबेल प्राइज वातावरण की सुरक्षा के लिए अच्छे कामों के लिए दिया जाता है लेकिन यहां तो जो लोग पराली जलाते हैं, वातावरण को प्रदूषित करते हैं. पानी का दुरुपयोग करते हैं. ग्रेटा थनबर्ग उनके साथ खड़ी हो गई है. यह दोहरा चेहरा इस पूरे कार्यक्रम का अब सामने आ गया है.’