English മലയാളം

Blog

बिहार के मुंगेर जिले (Corona Cases in Munger) में 22 छात्रों और तीन शिक्षकों के कोरोना पॉजिटिव मिलने की खबर से जिला प्रशासन और स्वास्थ विभाग में हड़कंप मच गया है। जिले के सरकारी विद्यालय में एक साथ 22 बच्चे और तीन शिक्षकों की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इस बीच सिविल सर्जन ने कहा है कि इस स्कूल को कंटेनमेंट जोन घोषित करने के साथ ही अन्य विद्यालयों के बच्चों की भी कोरोना जांच कराई जाएगी।

Also read:  ICAI CA Exam 2020 Postponed: ICAI ने स्थगित की सीए की परीक्षा, यहां देखें परीक्षा का नया शेड्यूल

सिविल सर्जन ने दिए खास निर्देश

इस मामले को लेकर मुंगेर सीएस अजय कुमार भारती ने बताया कि स्कूल के खुलने के बाद विद्यालय प्रबंधन की ओर से शिक्षकों और बच्चों समेत कुल 75 लोगों का रैंडमली कोरोना टेस्ट करवाया गया। उसमें से 22 बच्चे और तीन शिक्षकों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। जिसके बाद डीएम के निर्देश पर मेडिकल टीम का गठन कर असरगंज भेजा गया है। स्थानीय सभी पॉजिटिव बच्चों के परिवार और कॉन्टेक्ट को ट्रेस कर सभी का टेस्ट करवाया जाएगा। साथ ही इलाकों को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दूसरे स्कूलों के बच्चों की भी कोरोना जांच कराई जाएगी।

बिहार सरकार के आदेश पर चार जनवरी से 9वीं क्लास से लेकर 12वीं तक के बच्चों के लिए स्कूल खोलने का एलान हुआ था। इसके बाद स्कूल में बच्चे भी पहुंचना शुरू हो गए। इसी बीच असरगंज प्रखंड स्थित अमैया पंचायत के एक स्कूल में 22 बच्चे और तीन शिक्षक एक साथ कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आ गए।

Also read:  BITSAT 1st Iteration 2020 Results: जारी हुआ रिजल्ट, वेबसाइट पर ऐसे करें चेक