English മലയാളം

Blog

Satyendar-Jain

दिल्ली में कोरोना और ओमीक्रॉन के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं (Corona Omicron Cases in Delhi). दिल्ली में गुरुवार को 25 नये ओमीक्रॉन के मामले सामने आए हैं। इस बीच दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा (Delhi Health Minister Satyendar Jain) कि दिल्ली में 46 फ़ीसदी मामले ओमीक्रॉन के आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि अगर केंद्र सरकार ने पहले फ्लाइट पर रोक लगा दी होती, तो दिल्ली में ओमीक्रॉन नहीं फैलता।

सतेंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली में अब GRAP के तहत पाबंदी नहीं लगेगी।  इसके लिए फ़ैसला DDMA की बैठक में होगा। मंत्री ने राजधानी में बढ़ते ओमीक्रॉन मामलों को लेकर कहा कि अगर केंद्र सरकार ने पहले फ़्लाइट रोक दी होती तो दिल्ली में ओमिक्रॉन नहीं फैलता। मंत्री ने कहा कि हालांकि अभी तक 1 भी ओमिक्रॉन का मरीज़ आईसीयू में नही गया है।

Also read:  गुजरात में तबाही मचाने के बाद अब बिपरजॉय राजस्थान की तरफ बढ़ रहा, सैकड़ों पेड़ गिरे, 1100 गांवों में बिजली गुल, पिता-पुत्र की मौत और 23 घायल

अस्पताल में भर्ती 200 ओमीक्रॉन मरीजों में दिल्ली के सिर्फ 102

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के मुताबिक न‌ई जीनोम सिक्वेंसिंग रिपोर्ट के अनुसार कुल कोरोना के मामलों में से 46 फीसदी मामले ओमिक्रॉन वेरिएंट के हैं। मंत्री ने कहा कि कल दिल्ली में 923 केस आये थे, केस तेजी से बढ़े हैं. 46% केस ओमीक्रॉन वेरिएंट के हैं। मंत्री ने कहा कि लगभग 200 ओमीक्रॉन मरीज अस्पताल में हैं। जिनमें 115 मरीजों वह है, जो एयरपोर्ट से आए हैं। इनमें 102 दिल्ली और 98 बाहर के हैं, यानी दिल्ली के केवल 102 मरीज अस्पतालों में हैं।

Also read:  आंखों की सेहत के लिए काली गाजर फायदेमंद, आज हम आपको काली गाजर के सेहत लाभ बताते है…

ओमीक्रॉन तेजी से फैलता है पर मामले ज़्यादा गंभीर नहीं

मंत्री ने आगे कहा कि कम्यूनिटी के अंदर धीरे धीरे ओमीक्रॉन जा रहा है, लेकिन विशेषज्ञों का कहना है कि ये माइल्ड हैं। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली सरकार टेस्टिंग, ट्रीटमेंट और ट्रक नीति के तहत कार्य कर रही है। ओमीक्रॉन पहले के वेरीएंट के मुकाबले काफी तेजी से फैलता है, लेकिन मामले ज़्यादा गंभीर नहीं हैं।

Also read:  किसान आंदोलन को तेज करने के लिए आज सोनीपत में बनेगी रणनीति, लंबे संघर्ष का आह्वान

दिल्ली में कोरोना के मामले और संक्रमण दर बढ़ने के की वजह से GRAP का लेवल 1 यानि येलो एलर्ट लागू है। वहीं राजधानी में कोरोना के खतरे को देखते हुए बुधवार को डीडीएमए की मीटिंग हुई थी। बैठक में बढ़ते मामलों को देखते हुए मौजूदा प्रतिबंधों को जारी रखने और जमीनी स्थिति पर कड़ी निगरानी रखने का निर्णय लिया गया है।