English മലയാളം

Blog

देश में कोरोना के साथ-साथ एक और संक्रामक बीमारी फैलने का खतरा बढ़ गया है। राजस्थान और मध्यप्रदेश के बाद अब हिमाचल प्रदेश और केरल में भी बर्ड फ्लू का खतरा बढ़ गया है। इन राज्यों में कई सैकड़ों पक्षियों को मार दिया गया है। केरल ने राज्य में इसे राजकीय आपदा घोषित कर दिया है तो वहीं मध्यप्रदेश सरकार इस संबंध में जरूरी बैठक बुलाई है।

मध्यप्रदेश राज्य में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक उच्च स्तरीय बैठक बुलाई। राज्य के मंत्री विश्वास सारंग ने बैठक में हुई चर्चा की जानकारी देते हुए बताया कि जिला स्तर पर इस स्थिति की निगरानी करने के निर्देश जारी कर दिए हैं। इसके अलावा बैठक में फैसला लिया गया है कि हर जिले में पोल्ट्री फार्म में पक्षियों की जांच की जाएगी ताकि पता लगाया जा सके।

राजस्थान, मध्यप्रदेश, हिमाचल प्रदेश और केरल में बर्ड फ्लू की पुष्टि के बाद पशुपालन और डेयरी विभाग, भारत सरकार ने दिल्ली में एक कंट्रोल रूम की स्थापना की है, ताकि राज्य अधिकारियों की ओर से किए जा रहे बचाव और नियंत्रण उपायों पर निगरानी की जा सके।

मध्यप्रदेश
मध्य प्रदेश में मरे हुए कौवों में घातक वायरस पाए जाने के बाद मध्य प्रदेश सरकार ने राज्य में बर्ड फ्लू का अलर्ट जारी किया है। ताजा जानकारी के मुताबिक, मंदसौर में मृत मिले कौवों के नूमनों से बर्ड फ्लू की पुष्टि हो चुकी है।

Also read:  किसान आंदोलन : दिल्ली ब्लॉक करने की किसानों की धमकी के बाद अमित शाह की बैठक

राजस्थान
राजस्थान के बारां में 100 से ज्यादा पक्षियों की रहस्मयी मौत के बाद वन विभाग ने हेल्पलाइन नंबर जारी कर दिया है। राजस्थान सरकार का कहना है कि अब तक की जांच में इंसानों के लिए कोई खतरे की बात नहीं है। राजस्थान के झालावाड़, कोटा समेत 16 जिलों में अब तक 625 पक्षी जान गंवा चुके हैं।

Also read:  महाराष्ट्र के बाद दिल्ली में बर्ड फ्लू की पुष्टि, अब तक 9 राज्यों में फैला संक्रमण

हिमाचल प्रदेश
हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले में पौंग झील अभयारण्य में अब तक 2739 प्रवासी और स्थानीय पक्षियों की मौत के बाद स्थानीय प्रशासन ने मुर्गिंयों, बतखों और अंडों की बिक्री पर रोक लगा दी है। बर्ड फ्लू की पुष्टि के बाद मृत पक्षियों को जमीन में दफनाया जा रहा है।

केरल
केरल के अलपुझा और कोट्टायम जिलों में बडे़ पैमाने पर मंगलवार को संक्रमित पक्षियों को मारने का अभियान शुरू हो गया है। यहां पर करीब 50 हजार पक्षियों को मारा जाएगा। केरल में अब तक 1700 बतखों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा केरल में बर्ड फ्लू के प्रकोप के बाद मैसूर-केरल सीमा के एचडी कोटे तालुक में बोधी चेक पोस्ट पर जिला प्रशासन द्वारा मुर्गी और अन्य पक्षियों की तस्करी पर रोक लगा दी गई है।

हरियाणा 
अधिकारियों की माने तो हरियाणा के पंचकूला में पिछले दस दिन में चार लाख से ज्यादा पोल्ट्री पक्षियों की मौत हो गई है। हालांकि राज्य के पशुपालन और डेयरी विभाग का कहना है कि इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि इन पक्षियों की मौत एवियन इन्फ्लुएंजा से हुई है या नहीं। इन पक्षियों के नमूने जालंधर भेज दिए गए हैं और अभी इनकी रिपोर्ट नहीं आई है।

Also read:  रिहाना के ट्वीट के खिलाफ भारतीय सेलेब्रिटीज़ के ट्वीट्स की जांच करेगी महाराष्ट्र सरकार

उत्तराखंड
हिमाचल प्रदेश में बर्ड फ्लू की दस्तक को ध्यान में रखते हुए उत्तराखंड सरकार ने राज्य में मंगलवार को अलर्ट जारी कर दिया है। हालांकि राज्य में अभी तक किसी पक्षी की मौत का कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है।

उत्तर प्रदेश
उत्तर प्रदेश सरकार ने भी कई राज्यों में बर्ड फ्लू के बढ़ते मामलों को देखते हुए अपने यहां पशुपालन विभाग को सतर्क रहने के निर्देश दे दिए हैं।

गुजरात
गुजरात में भी बर्ड फ्लू की आशंका जताई जा रही है। यहां के जूनागढ़ जिले में खारो जलाशय में करीब 53 पक्षी मृत पाए गए हैं। हालांकि, वन विभाग के अधिकारियों ने आशंका जताई है कि जहरीले खाने की वजह से पक्षियों की मौत हुई है।