English മലയാളം

Blog

नई दिल्ली: 

ब्रिटेन में कोरोनावायरस के मामले बढ़ने के बीच प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (British PM Boris Johnson) इस महीने के अंत में भारत के दौरे पर आएंगे. उन्हें गणतंत्र दिवस (Republic Day) समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होना है. ब्रिटिश उच्चायोग के सूत्रों ने कहा कि ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन भारत आएंगे. फिलहाल उनके प्लान में किसी तरह का बदलाव नहीं हुआ है. बता दें कि ब्रिटेन में कोरोनावायरस के नए स्ट्रेन मिलने के बाद पूरे देश में लॉकडाउन लगाया गया है ताकि संक्रमण को रोका जा सके.

Also read:  सचिन पायलट का बड़ा बयान, कहा- कांग्रेस में जरुरी बदलावों की उम्मीद

भारत ने गणतंत्र दिवस के लिए ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को समारोह के मुख्य अतिथि के तौर पर बुलावा भेजा था, जिसे जॉनसन ने दिसंबर महीने में स्वीकार कर लिया था. उनके कार्यालय की ओर से यह जानकारी दी गई थी.

ब्रिटिश प्रधानमंत्री की भारत यात्रा ऐसे समय हो रही है जब ब्रिटेन में कोरोना का म्युटेंट स्ट्रेन पाए जाने के बाद तेजी से संक्रमण के मामले बढ़े हैं. माना जा रहा है कि वायरस का नया प्रकार तेजी से संक्रमण फैलाता है. नए वायरस के सामने आने के बाद कई देशों ने यात्रा संबंधी प्रतिबंध लगाए हैं, यात्रा पर अस्थायी बैन लगाने के बावजूद 30 से ज्यादा देशों में म्युटेंट वर्जन से संक्रमण के मामले पाए गए हैं. भारत में इस तरह के 58 मरीज मिले हैं. ये सभी मरीज या तो ब्रिटेन से आए हैं या फिर ब्रिटेन के यात्रियों के संपर्क में आए थे.

Also read:  बुलंदशहर में अजीब मामला आया सामने, पत्नी पीती है बीड़ी, पति मांगा लताक

जॉनसन के कार्यालय ने पिछले महीने कहा, “जॉनसन भारत की अपनी यात्रा का उपयोग उन क्षेत्रों में सहयोग को बढ़ावा देने के लिए करेंगे जो ब्रिटेन के लिए मायने रखते हैं. 2021 के दौरान व्यापार और निवेश से लेकर रक्षा और सुरक्षा तथा स्वास्थ्य एवं जलवायु परिवर्तन जैसे मुद्दे प्राथमिकता में होंगे.”

Also read:  दक्षिण पश्चिम दिल्ली के बिंदापुर इलाके में मोटरसाइकिल सवार दो हमलावरों ने दुकानदार की गोली मारकर की हत्या

बोरिस जॉनसन की ब्रिटेन की सत्ता संभालने के बाद यह पहली भारत यात्रा होगी. इसके साथ ही वो भारत की स्वतंत्रता के बाद से गणतंत्र दिवस पर भारत के गेस्ट ऑफ ऑनर बनने वाले दूसरे ब्रिटिश नेता होंगे. इसके पहले, 1993 में जॉन मेजर आए थे.