English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-08-02 082153

आजादी के 75 वर्ष पूरे होने के मौके पर देश ‘अमृत महोत्सव’ मना रहा है। ‘हर घर तिरंगा’ अभियान को लेकर लोगों में उत्साह चरम पर है। इस ऐतिहासिक अवसर को आंदोलन का रूप देने के लिए दिल्ली में बड़ी पहल होने जा रही है।

 

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह मंगलवार को ‘हर घर तिरंगा’ अभियान उत्सव की शुरुआत करने जा रहे हैं। राजधानी में आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम में ‘हर घर तिरंगा’ अभियान का वीडियो एवं थीम सॉन्ग लॉन्च किया जाएगा। यही नहीं, तिरंगे को डिजाइन करने वाले पिंगली वेंकैया की याद में डाक टिकट भी जारी किया जाएगा।

पीएम ने सोशल मीडिया प्रोफाइल पर तिरंगा लगाने की अपील की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘हर घर तिरंगा’ अभियान को आंदोलन बनाने के लिए लोगों से अपील की है। रविवार को अपने ‘मन की बात’ में पीएम ने कहा कि देश भर में 13 अगस्त से 15 अगस्त के बीच ‘हर घर तिरंगा’ अभियान उत्सव की तरह मनाया जाएगा। लोगों से अपील है कि वे अपने घरों पर तिरंगा अवश्य फहराएं। उन्होंने कहा, ‘तिरंगा हमें आपस में जोड़ता और हमें देश के लिए कुछ करने के लिए प्रेरित करता है।’ प्रधानमंत्री ने लोगों से दो अगस्त से 15 अगस्त के बीच अपने सोशल मीडिया प्रोफाइल पर राष्ट्रीय ध्वज की तस्वीर लगाने की अपील की।

Also read:  पति ने पत्नी के शादी करवाई प्रेमी से, खुद बनाया वीडियो

दो अगस्त को पिंगली वेंकैया का जन्म

तिरंगे के लिए दो अगस्त के दिन का ऐतिहासित महत्व भी है। इसी दिन राष्ट्रीय ध्वज का डिजाइन करने वाले पिंगली वेंकैया का जन्म हुआ था। पीएम ने कहा कि सोशल मीडिया पर तिरंगे की तस्वीर लगाने से वेंकैया को एक तरह से सम्मान देना होगा। इस अवसर पर पीएम ने तिरंगे को आकार देने में अहम भूमिका निभाने वाली मैडम कामा (भिकाजी रूस्तम कामा) के बारे में भी चर्चा की।

Also read:  धर्मेंद्र प्रधान का जयंत चौधरी पर बड़ा हमला, कहा- राजनीति का कम ज्ञान

25 करोड़ घरों में तिरंगा फहराने का लक्ष्य

‘हर घर तिरंगा’ अभियान से बड़ी संख्या में लोगों को जोड़ने की तैयारी है। सरकार ने 13 से 15 अगस्त के बीच देश भर में करीब 25 करोड़ घरों में तिरंगा फहराने का लक्ष्य रखा है। इसके लिए केंद्र सरकार संस्कृति मंत्रालय ने तमाम राज्यों और व्यापारिक संगठनों से तिरंगा अभियान में भागीदारी के लिए संपर्क किया है। दिल्ली, महाराष्ट्र, गुजरात, झारखंड, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, पंजाब, तमिलनाडु, ओडिशा, बिहार और राजस्थान इकाइयों से अपने-अपने राज्यों में कपड़ा उत्पादों से संपर्क करने और उन्हें बड़ी संख्या में राष्ट्रीय ध्वज बनाने के लिए प्रेरित करने को कहा है, अभी बाजार में दस रुपये से लेकर 150 रुपये तक के विभिन्न आकार के तिरंगे उपलब्ध हैं।

Also read:  कुवैती समाजशास्त्रियों ने शुरू की आत्महत्याओं को कम करने की पहल