English മലയാളം

Blog

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। मोदी सरकार ने घर खरीदने वालों को दिवाली का तोहफा दिया है। सरकार ने घरों की खरीद पर सर्कल रेट में भारी गिरावट की घोषणा की है। सरकार ने सर्किल रेट छूट को बढ़ाकर 20 फीसद कर दिया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को आत्मनिर्भर भारत पैकेज 3.0 के अंतर्गत यह घोषणा की। वित्त मंत्री ने गुरुवार को 2,65,080 करोड़ रुपए के आर्थिक राहत पैकेज की घोषणा की थी। इस पैकेज में सरकार ने उद्योगों के साथ ही मजदूर, किसान और मध्यम वर्ग को भी राहत दी है।

Also read:  Stock Market: नए शिखर पर सेंसेक्‍स और निफ्टी, कोरोना वायरस की वैक्‍सीन की उम्‍मीदों से आया उछाल

वित्त मंत्री ने कहा, ‘घर खरीदारों और डेवलपर्स को आयकर में राहत दी जाती है। इससे रेजिडेंशियल रियल एस्टेट को बढ़ावा मिलेगा और मध्यम वर्ग राहत महसूस कर सकेगा। सर्किल रेट और एग्रीमेंट वैल्यू में अंतर को 10 फीसद से बढ़ाकर 20 फीसद करने का निर्णय भी लिया गया है।’

 

Also read:  Income Tax Return : कोरोना काल में नौकरी छूट गई है तो भी आयकर रिटर्न भरना न भूलें, जानिए क्या हैं शर्तें

वित्त मंत्री ने दो करोड़ रुपए तक की हाउसिंग यूनिट्स की पहली बार सर्किल रेट से कम कीमत पर बिक्री पर इनकम टैक्स नियमों में छूट की घोषणा की है। गौरतलब है कि अभी तक सर्किल रेट और बिक्री करार मूल्य के बीच सिर्फ 10 फीसद तक के अंतर की इजाजत है। आवासीय रियल एस्टेट सेक्टर को बढ़ावा देने के लिए वित्त मंत्री ने कहा कि अब इस अंतर को 30 जून 2021 तक बढ़ाकर 20 फीसद कर दिया गया है।

आत्मनिर्भर भारत अभियान 3.0 के अंतर्गत गुरुवार को 2,65,080 करोड़ रुपये के 12 राहत उपायों की घोषणा की गई है। इस तरह सरकार और आरबीआई द्वारा अब तक कुल 29.87 लाख करोड़ रुपये के प्रोत्साहन की घोषणा हो चुकी है। यह जीडीपी का 15 फीसद है।

Also read:  नेस्ले इंडिया लिमिटेड देश में अपनी विनिर्माण क्षमता बढ़ाने के लिए अगले तीन से चार वर्षों में 2,600 करोड़ रुपये का निवेश करेगा।