English മലയാളം

Blog

traffic-jam

चेन्नई (Chennai) और उपनगरों में गुरुवार को भारी से बहुत भारी बारिश ( very heavy rain) हुई, जिससे सड़कें और सबवे जलमग्न हो गए. ये बारिश हाल के वर्षों में सबसे भारी बारिश में से एक हो सकती है। शहर में कई सड़कों पर पानी भर जाने के कारण लोगों को ट्रैफिक जाम (Traffic Jam) का सामना करना पड़ा। शहर के कई इलाकों में भारी बारिश के कारण शाम 6 बजे से रात 8:30 बजे तक विशेष रूप से माउंट रोड, पूनमल्ली रोड पर भारी ट्रैफिक जाम देखा गया। वहीं, चेन्नई शहर में कई स्थानों पर भारी बारिश के बाद करंट लगने से तीन लोगों की मौत भी हो गई है। जबकि अन्ना नागाटो इलाके में वीआर मॉल के छत का एक हिस्सा भी टूटकर गिर गया है।

Also read:  आरुषि निशंक ने सीएम धामी से की भेंट, कहा-बॉलीवुड को उत्तराखंड से जोड़ा जाएगा, फिल्म शूटिंग के लिए तलाशे जाएंगे नए अवसर,

इसके अलावा भारी बारिश के कारण राजधानी चेन्नई के कई इलाकों में पानी भर गया। राज्य सरकार के अनुसार चेन्नई और कांचीपुरम, तिरुवल्लूर और चिंगलपेट के आसपास के जिलों में रेड अलर्ट जारी किया गया है। वहीं भारी बारिश के चलते चेन्नई मेट्रो ने यात्रियों को अपने घरों तक सुरक्षित पहुंचने में सक्षम बनाने के लिए सेवा समय को एक घंटे बढ़ाकर 12 बजे करने की घोषणा की।

 

Also read:  पत्नी को ईडी का नोटिस मिलने पर आगबबूला हुए राउत, बोले- महिलाओं को निशाना बनाना कायरता का काम

 

चेन्नई में पेड़ गिरने के 27 मामले सामने आए

ग्रेटर चेन्नई निगम के आयुक्त गगनदीप सिंह बेदी ने बताया कि चेन्नई में पेड़ गिरने के 27 मामले सामने आए हैं। शहर में भारी बारिश के कारण हुए जलजमाव को दूर करने के लिए 145 से अधिक पंप चल रहे हैं। इससे पहले दोपहर से शुरू होकर शहर और उपनगरों के अधिकांश क्षेत्रों में बारिश होने लगी और कई स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश हुई। मौसम विभाग के मुताबिक एमआरसी नगर में सबसे ज्यादा 17.65 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई। नुंगमबक्कम और मीनांबक्कम में क्रमश: 14.65 सेंटीमीटर और 10 सेंटीमीटर दर्ज की गई।

 

Also read:  तमिलनाडु में चुनाव प्रचार के दौरान कमल हासन की कार पर युवक ने किया हमला

आईएमडी (IMD) ने चेन्नई, तिरुवल्लूर, कांचीपुरम और चेंगलपट्टू जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश की भविष्यवाणी की थी। बारिश दो घंटे तक चलने की उम्मीद थी। इससे पहले आज आईएमडी ने 31 दिसंबर और 1 जनवरी को तटीय तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल के अलग-अलग इलाकों में भारी बारिश की भविष्यवाणी की थी।