English മലയാളം

Blog

download

बनारस में बीजेपी मुख्‍यमंत्रियों के सम्‍मेलन के बाद अब बीजेपी के नेताओं का अगला संगम अयोध्या में आज होने जा रहा है. बुधवार 15 दिसंबर को सुबह लगभग 11 बजे बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ बीजेपी शासित राज्यों के 11 मुख्‍यमंत्री और 2 उप मुख्यमंत्री रामलला के दर्शन करने पहुंचेंगे. इनमें 8 राज्यों के मुख्यमंत्री अपने परिवार के साथ आएंगे. राम मंदिर पर फैसले के बाद जेपी नड्डा और सभी मुख्यमंत्रियों की ये पहली अय़ोध्या यात्रा होगी.

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा बुधवार को उत्तर प्रदेश के अयोध्या जाएंगे. 2019 में राम जन्मभूमि मामले में सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले के बाद नड्डा पहली बार अयोध्या जा रहे हैं.राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के अलावा बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश के अयोध्या में प्रसिद्ध हनुमानगढ़ी मंदिर और राम जन्मभूमि में पूजा करने पहुंचेंगे.

11 मुख्यमंत्रियों और तीन उपमुख्यमंत्रियों के कार्यक्रम की सूचना जिला प्रशासन को मंगलवार को दी गई. जिले के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जेपी नड्डा समेत सभी मुख्यमंत्री आज करीब 11 बजे अयोध्या पहुंच सकते हैं. जेपी नड्डा समेत सभी मुख्यमंत्री मंगलवार शाम को वाराणसी से लखनऊ पहुंचे. यहां रात भर रुकने के बाद अगले दिन यानि बुधवार को अयोध्या पहुंच जाएंगे.

Also read:  आम आदमी पार्टी की घोषणापत्र समिति के अध्यक्ष भास्कर राव ने पार्टी से दिया इस्तीफा


बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा आज जाएंगे अयोध्या, राम जन्म भूमि पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद पहली बार करेंगे दर्शन
इससे पहले बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्री वाराणसी में मौजूद थे जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को काशी विश्वनाथ धाम कॉरीडोर का उद्घाटन किया था. आज कार्यक्रम के मुताबिक ये सभी मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री बुधवार दोपहर करीब 2 बजे प्रसिद्ध हनुमानगढ़ी मंदिर में दर्शन करेंगे.

बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा आज जाएंगे अयोध्या, राम जन्म भूमि पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद पहली बार करेंगे दर्शन
बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा
भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा बुधवार को उत्तर प्रदेश के अयोध्या जाएंगे. 2019 में राम जन्मभूमि मामले में सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले के बाद नड्डा पहली बार अयोध्या जा रहे हैं.राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के अलावा बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश के अयोध्या में प्रसिद्ध हनुमानगढ़ी मंदिर और राम जन्मभूमि में पूजा करने पहुंचेंगे.

Also read:  लगातार हारों के तोडा जो रूट का हौसला, जो रूट ने कप्तानी से दिया इस्तीफा

11 मुख्यमंत्रियों और तीन उपमुख्यमंत्रियों के कार्यक्रम की सूचना जिला प्रशासन को मंगलवार को दी गई. जिले के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जेपी नड्डा समेत सभी मुख्यमंत्री आज करीब 11 बजे अयोध्या पहुंच सकते हैं. जेपी नड्डा समेत सभी मुख्यमंत्री मंगलवार शाम को वाराणसी से लखनऊ पहुंचे. यहां रात भर रुकने के बाद अगले दिन यानि बुधवार को अयोध्या पहुंच जाएंगे.


यह है पूरा कार्यक्रम

कार्यक्रम के मुताबिक ये सभी मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री बुधवार दोपहर करीब 2 बजे प्रसिद्ध हनुमानगढ़ी मंदिर में दर्शन करेंगे. इसके बाद राम जन्मभूमि जाएंगे और वहां पहुंचकर पूजा-अर्चना करेंगे. एक अधिकारी ने बताया कि हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, अरुणाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, असम, नागालैंड, मणिपुर, त्रिपुरा, गुजरात, हरियाणा और गोवा के मुख्यमंत्री, बिहार के दो उपमुख्यमंत्री और अरुणाचल प्रदेश के एक उपमुख्यमंत्री अयोध्या का दौरा करेंगे. सूत्रों की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक सिक्किम, मेघालय, मिजोरम, कर्नाटक और पुडुचेरी के मुख्यमंत्री भी अयोध्या के दौरे पर आएंगे.


अयोध्या से पहले वाराणसी में थे मौजूद

बता दें कि इससे पहले बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्री वाराणसी में मौजूद थे जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को काशी विश्वनाथ धाम कॉरीडोर का उद्घाटन किया था. इसके बाद पीएम मोदी ने मंगलवार को सभी मुख्यमंत्री के संग गुड गवर्नेंस को लेकर वाराणसी में एक बैठक आयोजित की थी. इस बैठक में बीजेपी शासित सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने अपने प्रदेश में जारी विकास कार्यक्रमों के बारे में जानकारी दी थी.

Also read:  पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने चक्रवात 'असानी' के मद्देनजर झारग्राम और पश्चिम मेदिनीपुर जिलों के अपने तीन दिवसीय दौरों को टाला

नवंबर 2019, सुप्रीम कोर्ट की पांच-न्यायाधीशों की पीठ ने सर्वसम्मति से राम लला के पक्ष में फैसला सुनाया और कहा कि 2.7 एकड़ में फैली पूरी विवादित भूमि सरकार द्वारा गठित एक ट्रस्ट को सौंप दी जाएगी, जो एक के निर्माण की निगरानी करेगी.5 अगस्त, 2020 को पीएम मोदी ने अयोध्या में राम मंदिर की आधारशिला रखी. 2022 की शुरुआत में उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं. बता दें 2017 में हुए पिछले चुनाव में बीजेपी ने 403 में से 312 सीटें जीतकर सरकार बनाई थी. समाजवादी पार्टी (सपा) को 47, बहुजन समाज पार्टी (बसपा) को 19 और कांग्रेस को केवल सात सीटें मिलीं. बाकी सीटों पर अन्य उम्मीदवारों ने कब्जा जमाया.