English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-03-07 103045

दिल्‍ली नगर निगम चुनाव करीब बाते ही दिल्‍ली की राजनीति गरमा गई है। प्रमुख राजनीतिक पार्टियां एक दूसरे पर आरोप लगाकर मतदातओं को अपने पाले में लाने का प्रयास कर रही हैं।

विपक्ष में बैठी आम आदमी पार्टी सत्‍तारूढ़ निगम भाजपा पर पूरी तरह से हमलावार हो गई है। आप को पूरा फोकस नगर निगम चुनाव पर है। भाजपा का पिछले 15 सालों से निगम पर कब्‍जा है।

Also read:  आम आदमी पार्टी के पंजाब के नव निर्वाचित पांचों राज्यसभा सदस्यों से अरविंद केजरीवाल ने की मुलाकात, जाने कौन है पांचों सांसद

पीतमपुरा वार्ड 64 से आप नेता सुमित प्रकाश ने भाजपा पर हल्ला बोला है। प्रेस को संबोधित करते हुए उन्‍होंने भाजपा के नेता पर निगम की जमीन को हड़पने के लगातार आरोप लगाया है। तो वहीं दूसरी तरफ आरोप लगाया कि एक अन्‍य निगम पार्षद ने निगम की जमीन परिजनों को मुफ्त में दे दी। सुमित प्रकाश ने बताया की हाल ही में इलाके में एक सरकारी जमीन को एक एनजीओ को बेचने की तैयारी थी, आप की विधायक की मदद से किसी तरह बचाया।

Also read:  कोरोना से मौत का आंकड़ा बढ़ा तीन गुना बढ़ा, कल के मुकाबले 3769 केस में हुआ इजाफा

नगर निगम के कर्मचारी स्कूलों के टीचरों तनख्वाह कई महीनों से रुकी हुई है। केजरीवाल सरकार ने 900 करोड़ रुपए की राशि का वितरण किया, जिससे नगर निगम के कर्मचारियों को उनकी सैलरी दी जा सके। आप विधायक वंदना कुमारी ने भी भाजपा पर जमकर आरोप लगाए।

Also read:  आप के राज्यसभा सांसद और पूर्व क्रिकेटर हरभजन सिंह किसानों की बेटियों की शिक्षा पर खर्च करेंगे राज्यसभा का वेतन