English മലയാളം

Blog

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की स्पेशल सेल ने बड़ी कार्रवाई करते हुए 4500 कारतूस बरामद किए हैं और साथ ही 6 लोगों को गिरफ्तार किया है. पकड़े गए लोगों में रमेश कुमार,दीपांशु,इकराम,अकरम,मनोज कुमार और अमित रॉव हैं. ये लोग गन हाउस के लोगों से मिलीभगत कर अवैध तरीके से कारतूस लेते थे और फिर अपराधियों को बेच देते थे. बरामद कारतूस हरियाणा के अंबाला के गन हाउस से इन सप्लायरों तक पहुंचे थे. पकड़े गए आरोपियों में तीन रिसीवर हैं. ये कारतूस अम्बाला के एक गन हाउस से एंट्री में हेराफेरी कर लाये जाते थे.

Also read:  टूलकिट केस:दिशा रवि को तीन दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया

रमेश कुमार उसी गन हाउस में काम करता है,उसके बाद इकराम ,अकरम और मनोज कारतूसों को आगे बेचते थे. अकरम और इकराम दोनों भाई हैं, जो गन हाउस में हथियारों की सर्विस का काम करते हैं.

Also read:  सबसे पहले भारत को 'कोविशील्ड' की 4-5 करोड़ खुराक मिलेंगी, सीरम इंस्टीट्यूट ने बताया पूरा प्लान

14 फरवरी को सबसे पहले दिल्ली से दीपांशु और रमेश को पकड़ा गया उसके बाद से कारतूस सप्लाई करने वाले से लेकर डिस्ट्रीब्यूटर तक की पूरी कड़ी तक पहुंची और कुल 6 लोग पकड़े गए.दीपांशु कारतूस लेने आया था, ये लोग 80 रुपये के कारतूस को 150 से 200 रुपये में बेचते थे. गन हाउस में काम करने वाला रमेश ये काम काफी लंबे समय से कर रहा था.