English മലയാളം

Blog

नई दिल्ली: 

Delhi सरकार ने साफ कर दिया है कि राजधानी में अब दोबारा लॉकडाउन (Lock Down) नहीं लगेगा. राजधानी में कोरोना (Covid-19) के मरीजों की संख्या देश में सर्वाधिक स्तर पर पहुंचने के बाद ऐसी अटकलें लगने लगी थीं कि दोबारा लॉकडाउन लगाया जा सकता है. हालांकि दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Satyendra Jain)  ने सोमवार को इन अटकलों पर विराम लगा दिया.जैन का कहना है कि जब लॉकडडाउन किया गया था तो हम सीखने की प्रक्रिया में थे. उस लॉकडाउन से जो सीख मिली, उसका फायदा लेना है, वो मास्क से भी लिया जा सकता है. सबसे कम संक्रमित हॉस्पिटल के स्टाफ के बीच है, क्योंकि वो लोग सुरक्षा ले रहे हैं. इसलिए लॉकडाउन का कोई चांस नहीं है.

Also read:  थोड़ी देर में रामविलास पासवान का अंतिम संस्कार, CM नीतीश कुमार मंत्रियों संग मौजूद

तीसरी लहर का पीक निकल गया
जैन ने कहा कि दिल्ली में कोरोना की तीसरी लहर का पीक (सर्वोच्च स्तर) भी पार कर गया है. दिल्ली में पहली लहर जून, दूसरी सितंबर और तीसरी अभी आई थी. तीसरा पीक जा चुका है. पॉजिटिविटी 15 फीसदी आई थी, वो दोबारा नहीं आएगी. आज मैं कह सकता हूं पीक जा चुका है. दिल्ली में एक दिन में 95 मौतों के सवाल पर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि दिल्ली में सबसे ज़्यादा टेस्ट हो रहे हैं. इसका पता पॉजिटिव रेट से चल सकता है.

Also read:  दिल्ली में फीका रहेगा नए साल का जश्न, 31 दिसंबर और एक जनवरी को रहेगा नाइट कर्फ्यू

मास्क न पहनने वालों पर सख्ती की जाएगी
जैन ने कहा कि मास्क ना लगाने वालों और सोशल डिस्टेंसिग ना करने वालों पर और सख्ती की जाएगी. पिछले दिनों में 45 करोड़ के चालान किए गए हैं. दिल्ली में बाजार बंद करने के सवाल पर जैन ने कहा कि इस बारे में कोई समीक्षा नहीं की गई है. अब फेस्टिवल जा चुके हैं. भीड़ कम हो जाएगी. फिर भी मैं कहूंगा थोड़ा डर रखिये. मास्क ज़रूर लगाएं.

Also read:  अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर लगा प्रतिबंध 28 फरवरी तक रहेगा जारी : DGCA

छठ पूजा पर सतर्कता बरतना जरूरी
छठ पूजा रोक पर बीजेपी के सवाल पर सत्येंद्र जैन ने कहा कि छठ पूजा में सबको एक साथ तालाब में उतरना होता है. अगर 5 लोग पॉजिटिव हुए तो सब पॉजिटिव हो जाएंगे. इतना बड़ा रिस्क नहीं ले सकते. बीजेपी को हर चीज़ पर सवाल उठाने की आदत है