English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-08-12 112555

40 दिन बाद हुआ था महाराष्ट्र सरकार के कैबिनेट का विस्तार पंकजा मुंडे को नहीं मिली कैबिनेट में जगह पंकजा ने अब अपनी नाराजगी जताई है

महाराष्ट्र में एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में गठित नई सरकार का कैबिनेट विस्तार हो चुका है।

कैबिनेट का विस्तार सरकार गठन के 40 दिन बाद हुआ। इतने दिनों तक मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस के पर पूरी सरकार चलाने की जिम्मेदारी थी। नई सरकार में 18 मंत्री शामिल किए गए हैं जिसमें 9 भाजपा के और 9 शिंदे गुट के हैं। कयास लगाए जा रहे थे कि नई गठित कैबिनेट में भाजपा नेता पंकजा मुंडे को जगह जरूर मिलेगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। अब इस मुद्दे पर पंकजा मुंडे का बयान आया है।

Also read:  Budget Session: संसद के बजट सत्र का दूसरा चरण आज से शुरू,पेट्रोल डीजल कीमतों में बढ़ोतरी पर विपक्ष का हंगामा

पंकजा मुंडे ने कहा, “कैबिनेट में शामिल किए जाने के लिए मुझमें शायद पर्याप्त योग्यता नहीं है। उनके अनुसार जो योग्य होगा, उसे मंत्रिमंडल में शामिल किया जाएगा। इस पर मेरा कोई रुख नहीं है। मैं अपने सम्मान को बनाए रखते हुए राजनीति करने की कोशिश करती हूं। मैं इस बात की सराहना करती हूं कि पिछली सरकार में मुझे महिला होते हुए भी ग्रामीण विकास का जिम्मा मिला था। महिलाओं को इस तरह के अवसर मिलने चाहिए।”

बता दें कि महाराष्ट्र की नई गठित कैबिनेट में एक भी महिला नहीं है। इसके कारण शिंदे सरकार की काफी आलोचना भी हुई। कांग्रेस ने तो यह आरोप भी लगाया कि भाजपा और उसके सहयोगी महिलाओं को नेतृत्व करने लायक नहीं समझते। इस मुद्दे पर उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस कह चुके हैं कि अगले दौर के मंत्रिमंडल विस्तार में महिला विधायकों को निश्चित रूप से मंत्रिपरिषद में शामिल किया जाएगा।

Also read:  27 साल में ज़िला अस्पताल भी नहीं बना पाए!, बीजेपी के ऐसे फ़र्जी गुजरात मॉडल ऐसे फ़रेबी विकास पुरुष से गुजरात इस बार छुड़ाएगा पीछा!- पप्पू यादव

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने जिन 18 विधायकों के मंत्री पद की शपथ दिलाई उनमें राधाकृष्ण विखे पाटिल, सुधीर मुनगंटीवार , भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल, विजय कुमार गावित, गिरीश महाजन, गुलाबराव पाटिल, दादा भुसे, संजय राठौड़, सुरेश खाडे, संदीपन भुमरे, उदय सामंत, तानाजी सावंत, रवींद्र चव्हाण, अब्दुल सत्तार, दीपक केसरकर, अतुल सावे, शंभूराज देसाई और मंगलप्रभात शामिल हैं। 18 नए मंत्रियों के शामिल होने के बाद महाराष्ट्र मंत्री परिषद के सदस्यों की संख्या बढ़कर 20 हो गई है।

Also read:  SC ने फीफा वर्ल्ड कप कतर 2022 से पहले फैन एंगेजमेंट सेंटर लॉन्च किया

बता दें कि पंकजा मुंडे भाजपा के दिवंगत नेता गोपीनाथ मुंडे की बेटी हैं। 3 जून 2014 को नई दिल्ली में दुर्घटना के दौरान गोपीनाथ की मौत हो गयी थी। वह स्वर्गीय प्रमोद महाजन की भतीजी हैं, और राहुल महाजन उनके चचेरे भाई हैं। राजनीति में आने से पहले वह एक गैर सरकारी संगठन का हिस्सा थीं।