English മലയാളം

Blog

चड़ीगढ़: 

कोरोनावायरस के संक्रमण की वजह से देशभर में पिछले साल मार्च में लॉकडाउन लागू किया गया था, जिसके बाद से अभी तक सभी स्कूलों-कॉलेजों को बंद कर दिया गया था. पंजाब पहला ऐसा राज्य बन गया है, जो पांचवी से आठवीं कक्षा तक के स्कूल खोलने का निर्णय लिया है. पंजाब के शिक्षा मंत्री विजय इंदर सिंगला ने बुधवार को कहा कि राज्य सरकार ने गुरुवार से सभी सरकारी, सेमी-गवर्नमेंट और निजी स्कूल खोलने का फैसला लिया है. उन्होंने कहा, ”स्कूल खोले जाने की टाइमिंग सुबह 10 बजे से दोपहर 3 बजे तक की अनुमति दी जा रही है. छात्र इस दौरान स्कूल में आकर पढ़ाई कर सकेंगे.’

Also read:  आज तमिलनाडु-केरल के तट से टकराएगा चक्रवाती तूफान 'बुरेवी', एनडीआरएफ की कई टीमें तैनात

स्कूल प्रबंधकों को शिक्षा मंत्री द्वारा निर्देशित कोविड-19 (COVID-19) के सभी दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा और सावधानियों का सख्ती से अनुपालन करना अनिवार्य है. विजय इंदर सिंगला ने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपनी सलाह देते हुए उन्हें निर्देश दिया है कि कोविड-19 महामारी के बीच बच्चों की सुरक्षा सुनिश्चित करें.

Also read:  RBI ने नहीं किया रेपो रेट में बदलाव, 4 फीसदी पर बरकरार, 2021-22 में 10.5% GDP का अनुमान

शिक्षा मंत्री ने कहा, ”मुख्यमंत्री द्वारा आदेशित सभी निर्देश पालन कर रहे हैं, सभी स्कूल प्रबंधनों को कोरोनोवायरस के संक्रमण के खतरे को रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी निर्देशों का सख्ती से पालन करने के लिए कहा गया है.”