English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-02-16 124032

Punjab Election 2022:  हरिंदर सिंह खालसा दो बार सांसद रहे हैं। 2015 में आम आदमी पार्टी ने हरिंदर सिंह खालसा को सस्पेंड कर दिया था।

पंजाब विधानसभा चुनाव के मद्देनज़र नेताओं का दल बदल जारी है। आम आदमी पार्टी (AAP) के पूर्व सांसद हरिंदर सिंह खालसा (Harinder Singh Khalsa) ने घर लंबे अंतराल के बाद घर वापसी कर ली है। हरिंदर सिंह खालसा ने एक बार फिर से शिरोमणि अकाली दल को ज्वाइन किया है। सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि हरिंदर सिंह के आने से उनकी पार्टी को मजबूती मिली है।

Also read:  यूपी : बागपत में प्रदर्शन कर रहे किसानों को पुलिस ने रातोंरात हटाया, NHAI के नोटिस का दिया हवाला

 

हरिंदर सिंह पहले भी शिरोमणि अकाली दल का हिस्सा रह चुके हैं। दो बार सांसद रहे हरिंदर सिंह पहली बार अकाली दल के टिकट पर ही संसद में पहुंचे थे। लेकिन 2014 के लोकसभा चुनाव में फतेहगढ़ साहिब से हरिंदर सिंह ने आम आदमी पार्टी के टिकट पर जीत हासिल की।

हरिंदर सिंह ने भी शिरोमणि अकाली दल में वापसी करने पर खुशी जाहिर की है. हरिंदर सिंह की वापसी पर सुखबीर सिंह बादल ने कहा, ”हरिंदर सिंह जी हमारे सीनियर नेता है। उनका पंजाब की राजनीति में अहम योगदान रहा है। हमें खुशी है उन्होंने वापसी करने का फैसला किया। इस कदम से पंजाब चुनाव में हमें मजबूती मिली है।”

Also read:  कृषि कानूनों के खिलाफ पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल ने लौटाया पद्म विभूषण

बीजेपी से तोड़ा था नाता

हरिंदर सिंह अपने राजनीतिक करियर में दल बदल करते रहे हैं। 2015 में आम आदमी पार्टी ने हरिंदर सिंह खालसा को पार्टी विरोधी गतिविधियों में हिस्सा लेने की वजह से संस्पेंड कर दिया था। हरिंदर सिंह खालसा हालांकि इन आरोपों से इंकार करते रहे हैं।

Also read:  बीएमसी ने नवनीत राणा मामले में लीलावती अस्पताल से बुधवार तक अस्पताल की ओर से इस बाबत जवाब मांगा, जाने क्या है मामला

2019 के लोकसभा चुनाव से पहले हरिंदर सिंह खालसा ने भारतीय जनता पार्टी को ज्वाइन किया था। लेकिन तीन कृषि कानूनों के खिलाफ शुरू हुए किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए हरिंदर सिंह खालसा ने बीजेपी का साथ छोड़ दिया। हरिंदर सिंह अब शिरोमणि अकाली दल के साथ नई पारी शुरू करेंगे।