English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-08-10 112901

 भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर स्थित श्रीगंगानगर जिले में एक बेटी ने अपने पिता को प्रेमी के हाथों मरवा (Murder) डाला।

पिता के सामने बेटी के अवैध प्रेम संबधों (Love affairs) का राज खुल गया था।इसलिये पिता ने बेटी को इस दलदल से बाहर आने के लिये समझाया था। लेकिन बेटी इससे नाराज हो गई। उसने अपने प्रेमी को पिता की शिकायत कर दी। इससे गुस्साये प्रेमी ने भी आव देखा ना ताव और प्रेमिका के पिता को गोली मारकर उसे मौत के घाट उतार डाला। पुलिस ने आरोपी बेटी और उसके प्रेमी समेत चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

Also read:  किसान आंदोलन: सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र, पंजाब और हरियाणा को भेजा नोटिस, कल होगी मामले पर सुनवाई

 

अनूपगढ़ पुलिस उपाधीक्षक जयदेव सियाग ने बताया कि दिल को दहला देने वाली यह वारदात अनूपगढ़ थाना इलाके के गांव 6APM में हुई। यहां की 30 वर्षीय महिला रोशनी का विवाह करीब 10-12 साल पूर्व घड़साना थाना इलाके के गांव 4MD में हुआ था। वहां उसका एक युवक गुरतेज सिंह के साथ प्रेम प्रसंग शुरू हो गया। रोशनी के परिजनों को जब इसका पता चला तो उन्होंने उसको समझाया लेकिन वह नहीं मानी।

प्रेमी अपनी प्रेमिका और दो दोस्तों को लेकर पहुंचा गांव

परिजन रोशनी को लगातार समझा रहे थे कि वह इस प्रेम प्रसंग को छोड़कर अपनी घर गृहस्थी को संभाले। लेकिन वह इस प्रेम प्रसंग से बाहर नहीं आना चाह रही थी। रोशनी के पिता चैनाराम ने जब इसके लिये उस पर दबाव बनाया तो वह नाराज हो गई. रोशनी ने इसकी शिकायत अपने प्रेमी गुरतेज को कर दी। इससे प्रेमी गुरतेज को गुस्सा आ गया. वह मंगलवार रात को रोशनी समेत अपने दो साथियों के साथ देसी कट्टा लेकर चैनाराम के पास पहुंचा।

Also read:  चीनी सैनिक जो लद्दाख सीमा के पास पकड़े गए थे, उन्हें मंगलवार रात को वापस चीन भेज दिया गया

ग्रामीणों ने मौके पर ही दबोच लिया आरोपियों को

उसने गांव में चैनाराम को गोली मार दी जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। फायरिंग की आवाज और चीख चिल्लाहट सुनकर आसपास के ग्रामीण मौके पर पहुंचे। उन्होंने रोशनी के प्रेमी सहित उसके साथ आए अन्य दो युवकों को काबू कर लिया और पुलिस को सूचना दे दी। इस पर पुलिस ने तत्काल मौके पर पहुंचकर युवती सहित उसके प्रेमी और दो अन्य युवकों को हिरासत में ले लिया है। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है।

Also read:  Farmers Protest : कृषि कानूनों के विरोध में किसान आज रेल रोको आंदोलन,ये हैं संवेदनशील रूट