English മലയാളം

Blog

पश्चिम बंगाल में चंद माह बाद विधानसभा चुनाव होने हैं। इसे लेकर राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस और प्रमुख विपक्षी दल भाजपा ने कमर कस ली है। दोनों ही पार्टियों के बीच राज्य में वार-पलटवार का सिलसिला जारी है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के ताजा दौर व उसमें उन पर हमले से बवाल के बाद अब केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह एक बार फिर राज्य का दौरा करेंगे। अमित शाह 19 और 20 दिसंबर को पश्चिम बंगाल में रहेंगे।

Also read:  हम उपयुक्त समय पर जम्मू-कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा जरूर देंगे : लोकसभा में गृहमंत्री शाह

अमित शाह बंगाल दौरे के समय भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे, इसके अलावा पार्टी के अन्य कार्यक्रमों में शामिल होंगे और बैठकें करेंगे। पिछले कुछ दिनों में अमित शाह का यह दूसरा दौरा होगा। हाल ही में वो पश्चिम बंगाल में दो दिन रहे थे। इस दौरान उन्होंने मतुआ समुदाय के लोगों से मुलाकात की थी। वह पार्टी के कार्यकर्ताओं से भी मिले थे और उनके साथ खाना भी खाया था।

नड्डा के दौरे पर जारी है विवाद
जेपी नड्डा बुधवार व गुरुवार को पश्चिम बंगाल के दौरे पर थे। उनका ये दौरा विवादों से घिरा रहा। उनके काफिले पर हमला किया गया और गाड़ियों पर पत्थर फेंके गए। इसमें भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री कैलाश विजयवर्गीय की कार का शीशा फूट गया और उनके हाथ का लिगामेंट फ्रेक्चर हो गया। इसे लेकर ममता सरकार पर हमला बोला गया और कानून व्यवस्था को लेकर सत्तारूढ़ पार्टी को आड़े हाथ लिया गया।

Also read:  किसान आंदोलन के चलते दिल्ली में आज इन रास्तों पर आवाजाही रहेगी बंद, निकलने से पहले जान लें

हमला होने के बाद जेपी नड्डा ने कहा कि अगर उनकी गाड़ी बुलेटप्रूफ नहीं होती तो इसका नतीजा कुछ और ही हो सकता था।

Also read:  भारत बंद' के बीच गृहमंत्री अमित शाह ने शाम 7 बजे किसान नेताओं को बैठक के लिए बुलाया

वहीं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जेपी नड्डा के काफिले पर हमले की निंदा की है और गृह मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल के राज्यपाल से इसको लेकर रिपोर्ट मांगी है। बता दें कि भाजपा लगातार पश्चिम बंगाल में कानून व्यवस्था को लेकर राष्ट्रपति शासन लागू करने की मांग कर रही है।