English മലയാളം

Blog

Bihar Assembly Elections 2020: बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान प्रचार के दौरान महागठबंधन के सीएम पद के प्रत्‍याशी तेजस्‍वी यादव (Tejashwi Yadav) के हेलीकॉप्‍टर के पास उमड़ रही भीड़ ने राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) के लिए सुरक्षा और कोविड-19 को लेकर चिंता बढ़ा दी. सोशल मीडिया पर आए विजुअल्‍स में युवाओं की भारी भीड़ को तेजस्‍वी के हेलीकॉप्‍टर की ओर बढ़ते देखा जा सकता है. इस दौरान कोरोना वायरस महामारी के चलते सोशल डिस्‍टेंसिग की गाइडलाइंस का साफ उल्‍लंघन होते दिखा. लोगों ने न तो एक-दूसरे से दूरी बना रखी थी और न ही वे उनमें से ज्‍यादातर ने मास्‍क पहने हुए थे.आरजेडी के राष्‍ट्रीय सलाहकार संजय यादव ने इसे सुरक्षा उल्‍लंघन का उनके चुनाव अभियान को प्रभावित करने का ‘इरादतन प्रयास’ करार दिया. उन्‍होंने कहा, हालांकि पूर्व उप मुख्‍यमंत्री तेजस्‍वी को Y प्‍लस श्रेणी की सुरक्षा हासिल है लेकिन राज्‍य सरकार ने इस मामले में कुछ भी नहीं किया है.

Also read:  टूलकिट केस:दिशा रवि को तीन दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया

संजय इन पूर्व में चुनाव आयोग को लिखे गए लेटर के साथ ट्वीट किया, ‘विपक्ष के नेता, जिसे Y प्‍लस श्रेणी की सुरक्षा हासिल है, की सुरक्षा का ऐसा उल्‍लंघन…तेजस्‍वी यादव और पायलट को बार-बार भीड़ से हटने का अनुरोध करना पड़ता है. लगातार अनुरोध (चुनाव आयोग) के बावजूद स्थिति जस की जस है. ऐसा लगता है कि यह अभियान को प्रभावित करने का इरादतन प्रयास है, इसके उनके लिए खतरा हो सकता है.’ आरजेडी के वरिष्‍ठ नेता मनोज ने चुनाव आयोग को अपनी शिकायत में कहा था कि आरजेडी नेता की बैठकों के लिए पर्याप्‍त सुरक्षा व्‍यवस्‍था न होने से असामाजिक तत्‍व परेशानी खड़ी कर सकते हैं.

Also read:  आजाद भारत में पहली बार किसी महिला को फांसी दी जाएगी,, इश्‍क के जुनून में परिवार के 7 सदस्‍यों की ली थी जान

गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने कोविड-19 के खतरे के मददेनजर प्रचार और वोटिंग के दौरान गाइडलाइंस की घोषणा की है लेकिन बिहार में चुनावी रैलियों के दौरान इसका पालन होता नजर नहीं आ रहा है. तेजस्‍वी यादव की रैली के दौरान भारी भीड़ उमड़ती देखी गई है लेकिन बहुत कम लोग मास्‍क पहने और सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन करते दिखे हैं.