English മലയാളം

Blog

पटना: 

Bihar Election 2020 : भाजपा (BJP) ने गुरुवार को बिहार विधानसभा चुनाव का घोषणापत्र (Manifesto) संकल्प पत्र के नाम से जारी किया. इसमें संकल्पपत्र में शिक्षा, स्वास्थ्य, आईटी समेत विभिन्न क्षेत्रों में 19 लाख रोजगार (JOB) देने का वादा किया गया है.घोषणापत्र में एक साल में तीन लाख शिक्षकों की भर्ती शामिल है. हर बिहारवासी को फ्री कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) का वादा भी पार्टी ने किया है.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) और अन्य नेताओं ने यह घोषणापत्र जारी किया. इसमें कहा गया है कि हर बिहारवासी को निशुल्क टीकाकरण मुहैया कराएंगे. बिहार में मेडिकल और तकनीकी शिक्षा हिन्दी भाषा में उपलब्ध कराएंगे. एक साल में तीन लाख नए शिक्षकों की भर्ती करेंगे . बिहार में अगले पांच वर्ष में आईटी हब ( IT HUB) बनाते हुए पांच लाख रोजगार देंगे. 50 हजार करोड़ रुपये की मदद स्वयं सहायता समूहों को देकर एक करोड़ महिलाओं को स्वावलंबी बनाएंगे.

Also read:  LAC पार करके भारतीय सीमा में घुसा चीन का सैनिक, भारतीय जवानों ने पकड़ा

पांच साल का रोडमैप जारी किया
इस संकल्प पत्र में 5 सूत्र,1 लक्ष्य और 11 संकल्प व्यक्त किए गए है. पार्टी ने संकल्प पत्र के जरिये अगले पांच साल का रोडमैप भी जारी किया है. गंगा मइया की नाम की कसम के साथ यह संकल्प पत्र जारी किया गया है. भाजपा ने तेजस्वी के 10 लाख नौकरी के काट के रूप में 19 लाख रोजगार के अवसर का संकल्प घोषणा पत्र में लिया गया है.

Also read:  बिहार चुनाव : क्या नीतीश कुमार चौथी बार मारेंगे बाजी? पहले चरण में 71 सीटों पर वोटिंग जारी

युवा रोजगार के बड़े वादे
तीन लाख नए शिक्षकों की नियुक्ति करेंगे. बिहार को आईटी हब बनाएंगे, जिससे पांच लाख रोजगार मिलेंगे. पार्टी ने कृषि क्षेत्र में दस लाख रोजगार का संकल्प भी लिया है.

महिला एक करोड़ को स्वरोजगार देंगे
एक करोड़ महिलाओं को स्वावलंबी बनाएंगे. दस लाख समूहों के माध्यम से 1.20 करोड़ महिलाओं को पहले ही स्वावलंबी बनाया जा चुका है.

Also read:  केंद्र का कृषि कानून बनाम पंजाब के 3 कृषि बिल, CM अमरिंदर बोले- 'मैं इस्तीफे से नहीं डरता'

मत्स्य पालन मछली उत्पादन में नंबर वन बनाएंगे
प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के तहत अगले दो वर्षों में मीठे पानी में पलने वाली मछलियों के उत्पादन में बिहार को नंबर वन बनाएंगे. बिहार के एक हजार नए किसान उत्पादक संघों को आपस में जोड़ेंगे.

कृषि  फल और औषधीय पौधों को बढ़ावा
मक्का, फल-सब्जी, चूड़ा, मखाना, पान, मसाला, शहद, मेंथा और औषधीय पौधों के लिए सप्लाई चेन विकसित करेंगे. इससे दस लाख नए रोजगार सृजित किए जाएंगे.