English മലയാളം

Blog

मुंगेर: 

बिहार (Bihar) के मुंगेर जिले के बारियारपुर थाना क्षेत्र में मानसिक अवसाद से ग्रसित एक होमगार्ड जवान (Home Guard Jawan) के अंधाधुंध गोलीबारी करने को नक्सली हमला समझकर पुलिस द्वारा की गई जवाबी कार्रवाई में गोली लगने से जवान की मौत हो गई. पुलिस अधीक्षक मानवेंद्र सिंह ढिल्लो ने मंगलवार को बताया कि यह घटना बरियारपुर थाना क्षेत्र में एक चौकी पर हुई, जहां सोमवार मध्यरात्रि के बाद अंधाधुंध गोलियों की आवाज सुनी गई.

Also read:  मायावती का एलान, यूपी-उत्तराखंड में अकेले चुनाव लड़ेगी बसपा

उन्होंने कहा, ‘‘हमें संबंधित थाना द्वारा बताया गया कि एक संदिग्ध नक्सली हमला हुआ है और अंधेरे में गोलियां चलाई जा रही हैं.” ढिल्लन ने कहा, ‘‘हम अतिरिक्त बल के साथ घने जंगलों से घिरे घटना स्थल पर पहुंचे.” उन्होंने कहा, ‘‘हमारी ओर से जवाबी गोलीबारी की गई. इसी बीच हमें पता चला कि यह होमगार्ड जवान मोहम्मद जाहिद (52) था, जो गोली चला रहा था. जो लोग उसे अच्छी तरह से जानते थे, उन्होंने बताया कि वह कुछ समय से मानसिक तनाव में था और अजीब व्यवहार कर रहा था.”

Also read:  किसान आंदोलन : सिंघु बॉर्डर पर पत्थरबाजी, भीड़ ने उखाड़े किसानों के टेंट

ढिल्लन ने कहा, ‘‘जाहिद की ओर से गोलीबारी बंद होने पर उनका खून से लथपथ शव बिना छत वाले शौचालय में मिला, जहां से वह हवा में गोलीबारी कर रहा था.” उन्होंने कहा कि शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाया गया और आगे की जांच जारी है.