English മലയാളം

Blog

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और बीसीसीआई के मौजूदा अध्यक्ष सौरव गांगुली की तबीयत पहले से बेहतर है और उन्हें आज (शनिवार) को अस्पताल से छुट्टी मिल सकती है। कोलकाता के अपोलो अस्पताल के वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि गांगुली के स्वास्थ्य में काफी सुधार है और अगर स्वास्थ्य जांच में उनका सब कुछ सामान्य रहा तो उन्हें शनिवार को अस्पताल से छुट्टी दी जा सकती है।

अधिकारी के मुताबिक, ‘गांगुली की तबीयत स्थिर है। उन्होंने शुक्रवार की रात में अच्छी नींद ली और सुबह में हल्का नाश्ता भी किया।’ उन्होंने कहा, ’48 वर्षीय पूर्व कप्तान को अस्पताल से छुट्टी देने से पहले उनकी कुछ चिकित्सीय जांच की जाएगी, इसके बाद भी उन्हें घर भेजने पर फैसला लिया जाएगा।’

Also read:  IPL 2020 KKR vs RR : राजस्थान की टीम ने टॉस जीतकर केकेआर को दिया पहले बल्लेबाजी का न्योता

गौरतलब है कि महीने में दूसरी बार उन्हें सीने में दर्द की शिकायत हुई थी। इसके बाद इसी हफ्ते बुधवार को उन्हें कोलकाता के अपोलो अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। गुरुवार को दूसरी बार उनकी एंजियोप्लास्टी की गई और धमनियों के अवरोध को हटाने के लिए दो स्टेंट भी डाले गए। मशहूर हृदयरोग विशेषज्ञ देवी शेट्टी ने तमाम परीक्षण और अस्पताल के चिकित्सकों के साथ परामर्श करने के बाद गांगुली की एंजियोप्लास्टी करने का फैसला किया था।

Also read:  राहुल गांधी ने कमलनाथ के 'आइटम' वाले बयान को बताया दुर्भाग्यपूर्ण, बोले- मुझे इस तरह की भाषा पसंद नहीं

शुक्रवार को उन्हें क्रिटिकल केयर यूनिट (CCU) से एक निजी कमरे में शिफ्ट कर दिया गया था। इससे पहले अपोलो अस्पताल के एक सीनियर डॉक्टर ने बताया कि एंजियोप्लास्टी के बाद सौरव के स्वास्थ्य में सुधार है।

गांगुली ने तीन सप्ताह पहले भी अपने आवास पर व्यायाम करते समय सीने में दर्द की शिकायत की थी, जिसके बाद जांच से पता चला कि उनकी धमनियों में तीन अवरोध हैं और उसे ठीक करने के लिए उन्हें एक स्टेंट भी लगया गया था। इसके बाद सात जनवरी को अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद उन्होंने मीडिया से बातचीत की थी। साथ ही साथ बेहतर सुविधाओं के लिए डॉक्टर्स और स्टाफ का धन्यवाद किया था।

Also read:  Bihar Govt Cabinet: नीतीश सरकार में मंत्रियों के विभागों का बंटवारा, तारकिशोर प्रसाद को मिले सुशील मोदी वाले विभाग

लगभग हफ्ते भर अस्पताल में रहने के बाद 48 वर्षीय गांगुली घर में आराम कर रहे थे। घर जाने के बाद भी वह मेडिकल टीम से संपर्क में थे। एक से दो हफ्ते के बीच में दादा की एक और एंजियोप्लास्टी होने की भी खबर थी।