English മലയാളം

Blog

Screenshot 2023-08-09 160712

भारतीय क्रिकेट को बढ़ावा देने वाली बीसीसीआई भारत सरकार को भी मालामाल कर रही है।

बीसीसीआई ने पिछले वित्त वर्ष 2021-22 में छप्परफाड़ कमाई की और रिकॉर्ड 1159 करोड़ रुपए टैक्स भरा है। इस बात की जानकारी वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने राज्यसभा में दी है, जो एक साल पहले की तुलना में 37 प्रतिशत अधिक है।

वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने दी जानकारी

राज्‍य सभा में मंगलवार को एक लिखित जवाब में वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने पिछले 5 सालों में बीसीसीआई द्वारा चुकाए गए आयरकर और आयरकर दाखिल रिटर्न के आधार पर बीसीसीआई की आय और उसके खर्चे का विविरण भी दिया है। मंत्री पंकज चौधरी ने द्वारा दी गई डिटेल के अनुसार, साल 2020 की शुरुआत में कोरोना की वजह से क्रिकेट मैदान सूने थे। खिलाड़ी बायोबबल में थे। इससे क्रिकेट संगठनों का खर्च बढ़ा था। हालांकि अब बीसीसीआई के लिए कोई दिक्कत नहीं है।

Also read:  26 मार्च को होगा IPL का आगाज, जाने पूरा सेड्यूल

2017 से 2021 तक बीसीसीआई की कमाई और खर्च की डिटेल

  • 2017-18 में 2916.67 करोड़ की कमाई। 2105.50 करोड़ का खर्चा हुआ।
  • 2018-19 में 7181.61 करोड़ रुपए आमदनी, जबकि 4652.35 करोड़ खर्च।
  • 2019-20 में 4972.43 करोड़ रुपए कमाई, 2268.76 करोड़ रुपए खर्चा हुआ।
  • 2020-21 में 4,735 करोड़ रुपए की कमाई। 3,080 करोड़ रुपए खर्चा हुआ।
  • 2021-22 में 7,606 करोड़ रुपए का राजस्व कमाया, जबकि खर्च 3,064 करोड़ हुआ।
Also read:  नागरिकों और निवासियों ने अपने खर्च में 30% की वृद्धि की

बीसीसीआई ने कब-कितना भरा टेक्स

  • 2017-18 में 596.63 करोड़ रुपए
  • 2018-19 में 815.08 करोड़ रुपये
  • 2019-20- 882.29 करोड़ रुपए
  • 2020-21- 844.92 करोड़ रुपये
  • 2021-22 में 1,159 करोड़ रुपए