English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-03-02 141150

भिखारन की मौत के बाद फूस के घर में निकला ‘खजाना’, तीन बक्‍से में भरकर रखे थे रुपये, स्थानीय लोगों ने जिस भिखारन को बेहद गरीब समझा और उसका बेटा भी उसे छोड़कर चला गया था। जब उसकी मौत हुई और उसकी फूस की झोपड़ी में रखे सामान को देखा गया तो देखने वाले की आंखें चौंधिया गईं। वहां रखे तीन ट्रंक में पैसे ही पैसे भरे पड़े थे।

 

जो महिला पूरी जिंदगी भिखारन की तरह रही, फटे-पुराने कपड़े पहनती रही और टूटे-फूटे फूस के घर में रहती थी। उसकी मौत के पांच दिन बाद जब फूस की झोपड़ी में स्थानीय लोगों ने सामान को चेक किया तो वह दंग रह गए। उस फूस की झोपड़ी में तीन ट्रंक रखे थे। जब उन ट्रंक को खोला गया तो उसमें पैसे ही पैसे नजर आए।

Also read:  सिंधिया की हार पर मध्य प्रदेश में मच गई रार, शिवराज के मंत्री ने कमलनाथ पर लगाया आरोप

फूस की झोपड़ी में रहती थी भिखारन

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, यह मामला पश्चिम बंगाल के उत्तर दिनाजपुर जिले का है। उत्तर दिनाजपुर जिले के इस्लामपुर में एक महिला कोनिका महंतों फूस की झोपड़ी में रह रही थी। उसकी कुछ दिनों पहले मौत हो गई थी। महिला का अंतिम संस्कार करने के बाद जब उनके पड़ोसियों ने महिला के घर की तलाशी ली तो वहां तीन ट्रंक मिले।

Also read:  तृणमूल कांग्रेस के सांसद सौगत रॉय ने कहा- जब मुख्यमंत्री खुद एक महिला हैं तब बंगाल में महिलाओं के खिलाफ एक भी अपराध शर्मनाक है

ट्रंक में मिले लाखों रुपये

पड़ोसियों ने जब उस ट्रंक को खोला तो वह दंग रह गए। उसमें लाखों रुपये भरे हुए थे। इस बात की जानकारी उसके बेटे बाबू महंतो को भी दी गई। बेटा परिवार से अलग रहता था। मां की मौत के बाद वह अंतिम संस्कार में तो आया लेकिन उसे खुद नहीं पता था कि उसकी मां लखपति हैं।

Also read:  NSA अजीत डोभाल के घर पर संदिग्ध शख्स ने घुसपैठ की कोशिश, शख्स को रोककर हिरासत में लिया

श्राद्ध और शांति कार्य में होगा पैसों का इस्तेमाल

अब पड़ोसी, रिश्तेदारों और उसके बेटे ने कहा है कि ये पैसा बूढ़ी मां के नाम बैंक में रखा जाएगा। ये पैसा कोनिका महंतो के श्राद्ध और शांति कार्य में इस्तेमाल किया जाएगा।