English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-08-15 085124

मिस्र के कॉप्टिक ऑर्थोडॉक्स चर्च ने रविवार को घोषणा की कि काहिरा के पास गीजा में एक कॉप्टिक चर्च में आग लगने से कम से कम 41 लोगों की मौत हो गई है।

चर्च ने स्वास्थ्य अधिकारियों का हवाला देते हुए बताया कि आग इम्बाबा के घनी आबादी वाले इलाके में स्थित अबू सेफीन चर्च में लगी, जिसमें 14 लोग बुरी तरह झुलस गए हैं। पुलिस के मुताबिक आग लगने के कारण का तत्काल पता नहीं चल सका है। शुरुआती जांच में आग लगने का कारण शार्ट-सर्किट माना जा रहा है। राष्ट्रपति कार्यालय ने कहा कि राष्ट्रपति अब्दुल फतेह अल-सिसी ने कॉप्टिक क्रिश्चियन पोप तावड्रोस द्वितीय के साथ फोन पर बात की अपनी संवेदना व्यक्त की।

Also read:  आजादी का अमृत महोत्सव अभियान के तहत, आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया 150 स्मारकों पर पहराएदा तिरंगा

 

स्वास्थ्य मंत्रालय के एक सूत्र ने नाम न छापने की शर्त पर कहा, ‘आग में घायल हुए कई लोगों के मारे जाने के बाद मृतकों की संख्या बढ़ गई है, क्योंकि स्रोत मीडिया से बात करने के लिए अधिकृत नहीं था।’ डीपीए समाचार एजेंसी ने बताया, कॉप्टिक चर्च ने कहा कि काहिरा के दक्षिणी किनारे पर गीजा शहर के अबो सेफीन चर्च में सुबह की जन सेवा के दौरान आग लग गई, जिसमें कम से कम 41 लोग मारे गए 14 घायल हो गए।

Also read:  जम्मू-कश्मीर में भारी बर्फबारी, जनजीवन अस्त-वस्त 6 लोग लापता

गृह मंत्रालय ने कहा कि चर्च की इमारत में एक एयर कंडीशनर इलेक्ट्रिक सर्किट के कारण आग लग गई। मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि बाद में आग पर काबू पा लिया गया। इस घटना में पांच नागरिक सुरक्षा कर्मी घायल हो गए।

Also read:  संसद का मानसून सत्र आज से शुरू, पीएम मोदी ने कहा- गंभीरता से हो चर्चा-विशलेषण