English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-08-02 133941

भारत में भी मंकीपॉक्स (Monkeypox) का खतरा बढ़ता जा रहा है। ताजा खबर यह है कि राजस्थान में संदिग्ध मरीज मिला है। 

राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री परसादी लाल मीणा ने मीडिया से वार्ता करते हुए कहा है कि राजस्थान में अब तक कोई मंकीपॉक्स का मामला नहीं है। लक्षण वाले दो व्यक्तियों को भरतपुर और किशनगढ़ से यहां रेफर किया गया है, उनके नमूने पुणे भेजे गए हैं, जांच रिपोर्ट का इंतजार है।

Also read:  सचिन पायलट और अशोक गहलोत में फिर आई दरार, गहलोत के बयान के बाद मैदान में उतरी पायलट की फौज, वार पर किया पलटवार

 

बता दें कि मंकी पॉक्स के राजस्थान में कल दो संदिग्ध मिले थे। जिनसे से एक कि पुणे लैब से रिपोर्ट आई है, जबकि दूसरे में भी चेचक जैसे ही लक्षण हैं अभी, जिसकी लैब रिपोर्ट का इंतज़ार किया जा रहा है।

वहीं, राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय के अधीक्षक डॉ. अजीत सिंह ने बताया कि बीमारी के लक्षणों वाले 20 वर्षीय व्यक्ति को सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है और उसके नमूने पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी भेजे गए हैं। मरीज को मंकीपॉक्स के मामलों के लिए बनाए गए विशेष वार्ड में निगरानी में रखा गया है। युवक पिछले चार दिनों से बुखार से पीड़ित है और उसके शरीर पर चकत्ते हैं।

Also read:  राहुल गांधी का मोहन भागवत के बयान पर दी प्रतिक्रिया, कहा-हिंदुओं की नजर में हर व्यक्ति का DNA अलग

देश में मंकीपाक्स से पहली मौत

इससे पहले सोमवार को देश में मंकीपाक्स से पहली मौत की पुष्टि हुई है। पिछले महीने संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) से केरल लौटे युवक की मौत हुई है। केंद्र सरकार ने मंकीपाक्स के मामलों पर निगरानी रखने और उसकी रोकथाम के लिए एक टास्क फोर्स का गठन किया है। देश में मंकीपाक्स का छठा मामला भी सामने आया है। दिल्ली में सोमवार को नाईजीरिया के एक नागरिक को इससे संक्रमित पाया गया है। हाल के दिनों में वह किसी दूसरे देश की यात्रा भी नहीं की थी।

Also read:  शिव सेना ने राज ठाकरे पर साधा निशाना, कहा- 'असली आ रहे हैं नकली से सावधान'