English മലയാളം

Blog

नई दिल्ली: 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Kejriwal) ने बुधवार को विधानसभा में कहा कि हमारी सरकार रामराज्य की अवधारणा से प्रेरणा लेकर काम रही है. सीएम केजरीवाल ने कहा कि श्रीराम हम सबके आराध्य हैं. वो अयोध्या के राजा थे, उनके शासनकाल में सब अच्छा था. सब सुखी थे, हर सुविधा थी. उसे रामराज्य कहा गया. रामराज्य एक अवधारणा है. वो भगवान हैं हम उनसे तुलना तक नहीं कर सकते. लेकिन उनसे प्रेरणा लेकर हम अगर एक सार्थक कोशिश भी कर सकें तो हमारा जीवन धन्य हो जाएगा. सीएम केजरीवाल ने विधानसभा में कहा कि उस अवधारणा को लेकर हम दिल्ली में काम कर रहे हैं. उन्होंने अपनी सरकार के 10 काम भी बताए.

Also read:  दिल्ली में क्या है कोरोना वैक्सीनेशन का प्लान, CM अरविंद केजरीवाल ने दी पूरी डिटेल

1. दिल्ली में कोई भूखा न सोए. इसके लिए अलग-अलग योजनाएं बना रही है सरकार.

2. हर बच्चे को चाहे गरीब का बच्चा क्यों न हो उसको अच्छी शिक्षा मिलनी चाहिये, एक जैसे पढ़ने के अवसर हम हर बच्चे को दे रहे हैं.

3. कोई बीमार हो जाये चाहे अमीर हो या गरीब उसको सबसे अच्छा इलाज मिलना चाहिए, हमने सरकारी अस्पतालों को ठीक किया.

4. कोई कितना भी गरीब क्यों न हो उसके घर मे अंधेरा न हो. 200 यूनिट बिजली हमने माफ कर दी. दिल्ली दुनिया का अकेला ऐसा राज्य है जहां 200 यूनिट बिजली फ्री मिलती है अमीर को भी गरीब को भी.

Also read:  मध्य प्रदेश में जल्द ही 'लव जिहाद' के खिलाफ कानून, 5 साल की जेल: गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा

5. सबको पानी मिलना चाहिए, चाहे अमीर हो या गरीब .

6. रोजगार सबके पास होना चाहिए. हम हर प्रयास कर रहे हैं, साफ नीयत से कोशिश कर रहे हैं.

7. मकान-हर आदमी के सर पर छत होनी चाहिए.

8. महिलाओं की सुरक्षा-पुलिस हमारे पास नहीं है लेकिन इसका रोना रोने से फायदा नहीं है जिनका काम है वो करें. हमारा काम था सीसीटीवी लगाना, बसों में यात्रा फ्री करना मार्शल लगाना.

Also read:  मध्यप्रदेश: खंडवा जिले में ज्योतिरादित्य सिंधिया की चुनावी जनसभा में किसान की मौत

9. बुजर्गों को सम्मान-बुजुर्गों को तीर्थ यात्रा कराई. ये उनका आखिरी फेज़ है जिंदगी का हमारे धर्म ग्रंथों में लिखा है कि अयोध्या में भव्य मन्दिर बन जाये तो सभी बुजुर्गों को मन्दिर के दर्शन कराने ले जाएंगे.

10. आम आदमी पार्टी में सभी बराबर हैं. किसी भी धर्म जाति के हों. श्री राम ने भीलनी के झूठे बेर खाये थे. उनके राज्य में किसी से भेद नहीं था. हमारी यही कोशिश है कि सभी एक दूसरे का आदर हमारी सरकार में करें.