English മലയാളം

Blog

नई दिल्ली: 

उत्तर प्रदेश के हाथरस में एक 20 वर्षीय दलित युवती की कथित रेप और अस्पताल में भर्ती रहने के दौरान मौत होने के मामले में देश में रोष व्यापत है. विपक्षी पार्टियां राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साध रहे हैं. गुरुवार को पीड़ित परिवार से मिलने हाथरस जा रहे कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के साथ धक्का-मुक्की हुई. इसे लेकर शिवसेना नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने कड़ी प्रतिक्रिया जताई और इसे देश के लोकतंत्र का गैंगरेप बताया है.

शिवसेना सांसद संजय राउत ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा, “राहुल गांधी एक राष्ट्रीय स्तर के राजनेता है. हमारे कांग्रेस के साथ मतभेद हो सकते हैं, लेकिन पुलिस ने उनके साथ जो व्यवहार किया है उसका कोई समर्थन नहीं कर सकता… उनका कॉलर पकड़ा गया और जमीन पर धक्का दे दिया. यह एक तरीके से देश के लोकतंत्र का गैंगरेप है. इसकी जांच होनी चाहिए.”

कंगना रनौत को लेकर राउत ने कहा कि मुंबई में एक एक्ट्रेस के कार्यालय के गैर-कानूनी निर्माण को थोड़ा सा तोड़ दिया तो सत्ताधारी जाग उठे जैसे कि उन पर आसमान टूट पड़ा. एक बच्ची के साथ रेप होता है, लेकिन इस बारे में कोई सवाल नहीं पूछ सकता है. देश के इतिहास और देश की परंपरा में मैंने इस तरह की घटना कभी नहीं देखी.

Also read:  Hathras Case: हाथरस कांड में नया मोड़, पीड़िता के बड़े भाई का मनोवैज्ञानिक मूल्यांकन करा सकती है सीबीआई, पूरे दिन रही चर्चा

कंगना रनौत को लेकर राउत ने कहा कि मुंबई में एक एक्ट्रेस के कार्यालय के गैर-कानूनी निर्माण को थोड़ा सा तोड़ दिया तो सत्ताधारी जाग उठे जैसे कि उन पर आसमान टूट पड़ा. एक बच्ची के साथ रेप होता है, लेकिन इस बारे में कोई सवाल नहीं पूछ सकता है. देश के इतिहास और देश की परंपरा में मैंने इस तरह की घटना कभी नहीं देखी.

Also read:  सुप्रीम कोर्ट ने कार्ती चिदंबरम को विदेश जाने की इजाजत मिली,दो करोड़ रुपये करवाने होंगे जमा

बता दें कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा गुरुवार को हाथरस गैंगरेप की पीड़िता के परिजनों से मिलने के लिए हाथरस जा रहे थे. उनका आरोप है कि उनके पहुंचने से पहले ही उन्हें पुलिस प्रशासन द्वारा रोक लिया गया. राहुल ने कहा, ”अभी पुलिस ने मुझे धक्‍का दिया, मुझ पर लाठीचार्ज किया और मुझे जमीन पर गिरा दिया. क्‍या सामान्‍य आदमी सड़क पर नहीं चल सकता.” उन्हें हिरासत में ले लिया गया था.