English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-02-28 195537

राजस्थान और छत्तीसगढ़ के बीच जल्द ही कोयला ब्लॉक आवंटन को लेकर चल रहा विवाद जल्द ही खत्म हो सकता है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने रविवार को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ बैठक की थी।

सूत्रों के अनुसार, राहुल गांधी ने रविवार को यहां अपने आवास पर दोनों मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की और मुद्दे के सौहार्द्रपूर्ण समाधान को लेकर बातचीत की। राजस्थान कोयला आपूर्ति के लिए छत्तीसगढ़ में परसा कोयला खदान का आवंटन चाहता है, हालांकि छत्तीसगढ़ ने इलाके के आदिवासियों के संदर्भ में कुछ चिंताएं जाहिर की हैं।

Also read:  देश में बड़ा कोरोना पिछले 24 घंटे में 7,495 नए केस आए सामने

सूत्रों ने बताया कि राहुल गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा छत्तीसगढ़ की चिंताओं से अवगत हैं और पार्टी नेतृत्व अगले कुछ दिनों के भीतर इस मुद्दे का समाधान निकालने के लिए काम कर रहा है। गहलोत पहले ही कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर आग्रह कर चुके हैं कि कोयला खदान की मंजूरी की प्रक्रिया को तेज करने के लिए दखल दें।

Also read:  पंजाब में हाई अलर्ट सभी धार्मिक स्थलों की चौकसी का आदेश

गहलोत ने कहा था कि छत्तीसगढ़ से कोयला नहीं मिलने की स्थिति में राजस्थान को गंभीर बिजली संकट का सामना करना पड़ सकता है और इसके चलते आगामी चुनाव में पार्टी का प्रदर्शन प्रभावित हो सकता है। सूत्रों का कहना है कि इस बैठक में राहुल गांधी ने राजस्थान की तरह छत्तीसगढ़ में भी पुरानी पेंशन योजना के बारे में भी चर्चा की।

Also read:  बैठक से नदारद थे कृषिमंत्री, तो किसान निकल आए बाहर, मंत्रालय से निकलते ही फाड़ीं बिल की कॉपियां

राजस्थान सरकार ने हाल ही में पुरानी पेंशन योजना को लागू करने की घोषणा की थी। सूत्रों ने यह भी बताया कि राहुल गांधी ने राज्यसभा के आगामी चुनाव में कांग्रेस के संभावित उम्मीदवारों के बारे में चर्चा की तथा बघेल ने स्थानीय नेताओं को उच्च सदन भेजने पर जोर दिया। छत्तीसगढ़ से राज्यसभा की दोनों सीटों के लिए जल्द ही चुनाव होना है।