English മലയാളം

Blog

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को पहले ‘भारत खिलौना मेला’ ( द इंडिया टॉय फेयर 2021) का वर्चुअल उद्घाटन करेंगे। आत्मनिर्भर भारत अभियान में वोकल फॉर लोकल के तहत देश को खिलौना निर्माण का वैश्विक हब बनाने के मकसद से शिक्षा मंत्रालय, महिला व बाल विकास मंत्रालय, कपड़ा मंत्रालय मिलकर इसका आयोजन कर रहे हैं। अभी तक इसमें 10 लाख रजिस्ट्रेशन हो चुके हैं।

छात्र इस प्रतियोगिता के माध्यम से खेल और पढ़ाई आदि के लिए खिलौने, डिजाइन और तकनीक तैयार करेंगे। इसमें विजेताओं को 50 लाख रुपये का इनाम भी दिए जाएंगे। नई शिक्षा नीति के तहत छठीं कक्षा से छात्रों का कौशल विकास समेत छोटे कारिगरों के साथ मिलकर इंटर्नशिप करने के तहत इसमें काम करने को मिलेगा।

Also read:  अतीक अहमद के बेटे को पकड़ने के लिए छापेमारी, सीबीआई ने उमर की गिरफ्तारी पर दो लाख का इनाम रखा

आत्मनिर्भर भारत के तहत अब भारतीय छात्र अपनी सोच, हुनर और तकनीक से अंतर्राष्ट्रीय खिलौना बाजार में भारतीय मार्केट को मजबूती देंगे। इसमें पॉलिसी मेकर, पेरेंट्स, स्टार्टअप, छात्र, इंडस्ट्री आदि सभी को एक मंच पर मिलकर काम करना होगा। इसमें राज्य और केंद्र सरकार एक साथ मिलकर काम करेगी।

Also read:  मल्लिकार्जुन खरगे बजरंग दल पर बयान देकर अब मुसीबत में फंसे, मानहानि मामले में संगरूर की एक अदालत ने भेजा नोटिस

भारत में 1.5 अरब डालर का खिलौना बाजार है और इसमें से 80 प्रतिशत खिलौने विदेश से आते हैं । ऐसे में पहली बार स्कूली बच्चों और कॉलेजों के छात्रों को साथ लेकर खिलौने के माध्यम से देश की अर्थव्यस्था को मजबूत बनाने का प्रयास किया जा रहा है। इससे नवाचार को बढ़ावा मिलेगा।

Also read:  देश में पिछले 24 घंटे में 2 लाख 38 हजार नए केस, धीमी हुई कोरोना की रफ्तार

प्रतियोगिता नौ थीम पर आधारित रहेगी। इसमें भारतीय संस्कृति, इतिहास, प्राचीन काल से भारत को जानो, लर्निंग एजुकेशन और स्कूलिंग, सोशल एंड ह्यूमन वैल्यू, विभिन्न क्षेत्रों में काम धंधा या रोजगार, पर्यावरण, दिव्यांग, फिटनेस व स्पोर्ट्स आदि पर आधारित हैं। प्रतियोगिता जूनियर, सीनियर व स्टार्टअप लेवल पर होगा।