English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-03-09 123006

यूपी चुनाव के नतीजे कल आ रहे हैं और उससे पहले प्रसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने सपा गणना अभिकर्ता से अपील की है। जानें उन्होंने क्या कहा है।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के नतीजे सामने आने में अब बस कुछ ही घंटों का समय रह गया है। बीते सोमवार आखिरी चरण के बाद आए एग्जिट पोल में बीजेपी सत्ता बनाते दिख रही है। वहीं, अब प्रसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने सपा गणना अभिकर्ता से अपील करते हुए कहा कि वोटिंग की गिनती खत्म होने तक सजगता व सतर्कता से अपनी-अपनी टेबल पर डटे रहें।

दरअसल, शिवपाल ने ट्वीट करते हुए कहा, “कल प्रातः 8 बजे से पोस्टल बैलेट की गिनती शुरू होगी। इसके 30 मिनट पश्चात ईवीएम मतगणना शुरू की जा सकती है। मेरा आग्रह है कि मतगणना सम्पन्न होने तक सपा गठबंधन के गणना अभिकर्ता अपने-अपने टेबल पर सजगता व सतर्कता के साथ डटे रहें। पोस्टल मतों की निर्बाध गिनती ईवीएम के समानांतर ही जारी रहे।”

Also read:  जहरीली शराब पीने से तीन की मौत, जांच में जुटी पुलिस

अखिलेश यादव ने बीजेपी पर लगाए ये आरोप

बता दें, समाजवादी पार्टी के मुखिया और उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने मंगलवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की और बीजेपी पर बड़े आरोप लगाए।उन्होंने दावा किया कि सीएम के सबसे बड़े अधिकारी, प्रमुख सचिव का जगह-जगह फोन जा रहा है कि जहां बीजेपी हारे वहां वहां काउंटिग स्लो (वोटों की गिनती धीरे) कीजिए। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आज बनारस में ईवीएम ले जाई जा रही थी। एक ट्रक पकड़ा गया, दो ट्रक लेकर भाग गए।

Also read:  15 मार्च में शुरू होगी नियमित अंतरराष्ट्रीय उड़ानें

अखिलेश यादव ने कहा, “अगर सरकार वोट की चोरी नहीं कर रही थी तो बताए कि एक गाड़ी रोक ली, पकड़ी गई.. दो गाड़ियां क्यों भागी? अगर कोई चोरी नहीं थी तो प्रशासन ने सुरक्षा का इंतज़ाम क्यों नहीं किया।  अभी इलेक्शन की फोर्स गई नहीं है यूपी से तो आखिरकार अधिकारी क्यों नहीं कर रहे थे(सुरक्षा)। क्या वजह है कि बिना सुरक्षा इंतज़ाम के ईवीएम जा रहे थे।”

अखिलेश यादव ने अपनी पार्टी के लोगों से अपील करते हुए कहा, “मैं अपनी पार्टी के लोगों से कहूंगा कि जब तक काउंटिंग न हो जाए। तब तक कम से कम ये नज़र रखें और लगातार निगरानी रखें कि कैसे वोट बचाया जा सकता है। कैसे जहां पर मशीने रखी हैं, वहां पर किसी का आना जाना न हो। ये लोकतंत्र के लिए बहुत ही खतरे का समय है। जो दल हार गया, अब उसके बस में यही है जो अब करने जा रहे हैं।”

Also read:  गुजरात स्थानीय निकाय चुनाव : शुरुआती रुझानों में 81 नगर निकायों में से अधिकतर पर बीजेपी को बढ़त मिली

चुनाव आयोग का जवाब

वहीं, ईवीएम पर लगातार उठे सवालों को लेकर चुनाव आयोग ने कहा कि, अन्य देशों मे इस्तेमाल होने वाली ईवीएम मशीन से अपने देश की ईवीएम बिल्कुल अलग है। उन्होंने कहा, कि यहां ईवीएम को हैक नहीं किया जा सकता।